नई दिल्ली। संसद में पिछले साल राहुल गांधी द्वारा अपनी सीट से उठकर पीएम को गले लगाने और सदन में आंख मारने को लेकर जमकर बहस हुई थी। इसके बाद यह घटना एक बार फिर शुक्रवार को लोकसभा में हुई जब राहुल गांधी ने राफेल पर बहस के दौरान आंख मारी।

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सदन के तय नियमों को नहीं समझने, अपनी बात मनवाने की जिद और व्यंगात्मक टिप्पणियों से शांत स्वभाव की लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन का सब्र भी जवाब दे गया। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन के जवाब के बीच में बोलने पर अड़े राहुल पर सुमित्रा महाजन ने कहा, "समझते तो हो नहीं, मैं क्या बोलूं"।

यही नहीं, राफेल मुद्दे पर गंभीर चर्चा के दौरान भी राहुल गांधी फिर आंख मारते दिखे। दरअसल राफेल पर विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए निर्मला सीतारमन ने राहुल गांधी का नाम लिया था। इस पर राहुल गांधी हस्तक्षेप की मांग करते हुए बोलने की इजाजत मांगने लगे। वे बोलने लगे कि कल आपने मुझे अनिल अंबानी का नाम लेने से मना कर दिया था।

सुमित्रा महाजन ने समझाया कि अनिल अंबानी सदन में नहीं थे, इसीलिए मना किया था क्योंकि वे जवाब नहीं दे सकते हैं। आप सदन में उपस्थित हो, आपको जवाब देने का मौका मिलेगा। लेकिन राहुल गांधी मानने को तैयार नहीं थे। इसी क्रम में सुमित्रा महाजन को यह टिप्पणी करनी पड़ गई।

राहुल के आंख मारने को लेकर भाजपा ने फिर मुद्दा बनाया है। भाजपा नेता और सासंद नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट कर राहुल गांधी पर निशाना साधा है।