नई दिल्ली। नौकरी के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवार के लिए स्किल्स को होना बेहद अहम कारक है। जब कोई नियोक्ता किसी कर्मचारी को हायर करता है, तो वह वेतन और अनुभव की बजाय इसी पर अधिक ध्यान देता है। यह बात हाल ही में ओएलएक्स-फ्रॉस्ट एंड सुलिवन सर्वे के निष्कर्ष में सामने आई है।

सर्वेक्षण के मुताबिक, गुणवत्ता, अनुभव, रेफरल और उम्मीदवार का स्थान के बाद कर्मचारी में कौशल को होना सबसे जरूरी कारक है, जिस पर विचार किया जाता है। कर्मचारी की एक्सपेक्टेड सैलरी से ऊपर इन बातों को ध्यान में रखा जाता है। नियोक्ता भी उन आवेदकों को पसंद करते हैं, जो आस-पास के क्षेत्र में रहते हैं। सर्वे में शामिल करीब 55 प्रतिशत नियोक्ताओं ने कहा कि यह उनके लिए काफी अहम था।

सर्वे में 4,500 प्रतिभागियों को शामिल किया गया था। इनमें से 4000 नौकरी तलाशने वाले, 200 इंप्लॉयमेंट एजेंसीज और 300 व्यवसाय (एसएमई और बहुराष्ट्रीय कंपनियों) शामिल थे। इसमें पाया गया कि उम्मीदवारों के लिए खोज करते समय रोजगार की आवश्यकताओं को पूरा करने वाले आवेदक, नियोक्ताओं के लिए पहली प्राथमिकता थे।

सर्वे में यह भी पता चला है कि ग्रे-कॉलर और ब्लू-कॉलर जॉब की तलाश में करने वाले 60 फीसद से अधिक लोग स्नातक हैं। इन लोगों में से एक तिहाई करीब 26 से 35 साल के बीच की आयु वर्ग के हैं। सर्वे में यह भी खुलासा हुआ कि नौकरी की तलाश करने वाले लोगों ने इंटरनेट को अपनाया और उसका उपयोग किया। हर चार में से तीन नौकरी की तलाश करने वाले ने इंटरनेट का उपयोग किया।