पटना। लोकसभा चुनाव के सातवें चरण का मतदान जारी है और इस दौरान सलमान खान की दो मुंहबोली बहनें भी वोट डालने पहुंची हैं। सलमान की यह बहने हैं सबा और फराह जिन्होंने पहली बार अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। सबा और फराह इससे पहले भी वोट डाल चुकी हैं लेकिन एक शख्स के रूप में।

जानकारी के अनुसार 2015 बिहार विधानसभा चुनाव में पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र स्थित दीघा विधानसभा क्षेत्र की रहने वाली सिर से जुड़ी हुई बहनों सबा और फराह के लिए चुनाव आयोग ने एक ही वोटर आईडी कार्ड जारी किया था और उन्हें एक ही वोट डालने को मिला था। लेकिन बाद में विचार कर चुनाव आयोग ने दोनों को अलग-अलग वोटर आईडी कार्ड जारी किया है और इसके बाद रविवार को दोनों बहने अपने मताधिकार का प्रयोग करने पहुंची।

वोट करने पहुंची दोनों बहनों ने कहा कि वो बहुत खुश हैं और डीएम से मिलकर उन्हें अलग-अलग वोटर आईडी कार्ड जारी करने के लिए धन्यवाद देंगे। इससे पहले चुनाव आयोग ने दिमाग से जुड़ु बहनों को एक ही शख्स मानते हुए एक ही आईडी कार्ट जारी किया था।

जानिए कौन हैं सबा-फराह

पटना के समनपुरा इलाके में रहने वाली 23 वर्षीय सबा-फराह जुड़वा बहनें हैं जो जन्म से ही सिर से एक-दूसरे से जुड़ी हैं। दोनों के ऑपरेशन को लेकर बहुत प्रयास किया गया। लेकिन, जांच के बाद चिकित्सकों ने इसे जटिलतम अॉपरेशन बताया। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इन दोनों को अलग करने के लिए कराए जानेवाले ऑपरेशन से मना कर दिया था। क्योंकि ऑपरेशन में दोनों बहनों में से किसी एक की जान जाने की संभावना थी।

बिहार की सिर से जुड़ी दो बच्चियां सबा-फराह के ऑपरेशन के लिए सुप्रीम कोर्ट ने इनकार करने के बाद बिहार सरकार से हर महीने इनके परिवार को पांच हजार रुपये भी देने को कहा था।

सलमान खान की फैन्स हैं सबा-फराह, बांधी थी राखी

सबा-फराह बचपन से ही बॉलीवुड एक्टर सलमान खान की फैन्स हैं। कुछ साल पहले सलमान खान ने सबा और फराह के साथ रक्षाबंधन के मौके पर राखी बंधवाई थी। जब उन्हें पता चला था कि ये दोनों बहनें उनकी कितनी बड़ी फैन हैं, तो उन्होंने दोनों के लिए फ्लाइट्स की टिकटें भिजवाकर उन्हें मुंबई बुलाया था। सलमान ने दोनों के रहने का भी बंदोबस्त किया था। राखी बंधवाकर सलमान खान ने हमेशा उनकी रक्षा करने का वादा किया था।

सलमान खान से ये दोनों बहनें इस कदर प्यार करती हैं कि जिस दिन सलमान खान के हिट एंड रन मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट अपना फैसला सुनाने वाला था, उस दिन (मई 2015) इन दोनों बहनों ने व्रत रखा था।