नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 13 और 14 जून को किर्गिस्तान के बिश्केक (Bishkek) में होने वाले शंघाई सहयोग संगठन (SCO) सम्मेलन में हिस्सा लेना है। इस संबंध में भारत की ओर से पाकिस्तान से गुजारिश की गई थी थी कि वह अपनी हवाई सीमा से पीएम मोदी के विशेष विमान को गुजरने की अनुमति दे, जिसे पड़ोसी देश में स्वीकार कर लिया था। लेकिन अब पाक को दरकिनार कर भारत ने मध्य एशियाई देशों से उड़ान भरने का फैसला किया है।

पीएम मोदी का वीवीआईपी विमान अब बिश्केक पहुंचने के लिए ओमान, ईरान और सेन्ट्रल एशियाई देशों के ऊपर से उड़ान भरेगा जहां वह 13-14 जून को शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) शिखर सम्मेलन में भाग लेने वाले हैं।

MEA प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, 'भारत सरकार ने बिश्केक को वीवीआईपी विमान द्वारा ले जाने के मार्ग के लिए दो विकल्प तलाशे थे। अब निर्णय लिया गया है कि वीवीआईपी विमान बिश्केक के रास्ते में ओमान, ईरान और मध्य एशियाई देशों से होते हुए उड़ान भरेगा।'

खास बात यह है कि इस सम्मेलन में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी मौजूद रहेंगे। हालांकि इस दौरान मोदी और इमरान खान की मुलाकात का कोई प्रोग्राम नहीं है।

बता दें, बालाकोट आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान ने 26 फरवरी को भारत के लिए अपनी हवाई सीमा बंद कर दी थी। उसके बाद से पाकिस्तान ने अपने 11 हवाई मार्गों में से दक्षिणी क्षेत्र के सिर्फ दो हवाई मार्ग खोले हैं।