बालासोर। लंबी दूरी की मार करने वाली सब सोनिक क्रूज मिसाइल 'निर्भय' का ओडिशा रेंज में सफल परीक्षण किया गया है। इसके साथ ही सैन्य क्षेत्र में भारत की क्षमता में और भी इजाफा हो गया है। 'निर्भय' एक स्वदेशी मिसाइल है। इस मिसाइल की खासियत है कि यह अलग अलग प्लेटफॉर्म पर डिप्लॉय की जा सकती है।

सोमवार को डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO) ने चांदीपुर टेस्ट रेंज में सुबह 11 बजकर 44 मिनिट पर इसका सफल परीक्षण किया।

परीक्षण को सफल बताते हुए डीआरडीओ ने कहा 1000 किमी तक यह मिसाइल मार करने में सक्षम है। इस मिसाइल से भारत के डिफेंस को मजबूती मिलेगी बल्कि पाकिस्‍तान, चीन समेत कई देश इस मिसाइल की जद में रहेंगे। यह मिसाइल कुछ सेकेंड में ही दुश्‍मन देशों के किसी भी इलाके को नेस्‍तानाबूद करने में सक्षम है।

डीआरडीओ के वैज्ञानिकों के मुताबिक मिसाइल के टेस्ट के दौरान उसे DRDO द्वारा बनाए गए ग्राउंड बेस्ड राडार और अन्य पैरामीटर्स पर लगातार मॉनिटर किया गया।

पूर्व में भी DRDO इस मिसाइल का कई बार टेस्ट कर चुका है, लेकिन अब तक उसे इसके लक्ष्य प्राप्त करने को लेकर पूरी तरह से सफलता नहीं मिली थी। 'निर्भया' का पहला परीक्षण साल 2013 में किया गया था लेकिन मिसाइल में तकनीकी खराबी आने की वजह से परीक्षण फेल हो गया था।

हालांकि साल 2014 में किया गया परीक्षण सफल हो गया था। लेकिन साल 2015 में परीक्षण के दौरान एक बार फिर मिसाइल 128 किमी की दूरी तय करने के बाद अपने तय लक्ष्य से भटक गई थी।