नई दिल्ली। सावन के महीने में देशभर में कावड़ यात्राएं निकलती हैं और इस दौरान कई बार हादसे भी होते हैं। इन हादसों के बीच कई बार कावड़ यात्री हिंसक हो जाते हैं। हाल ही में कुछ ऐसी ही घटनाएं सामने आई हैं जिनके कारण सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जताई है। साथ ही सर्वोच्च न्यायालय ने निर्देश जारी कर हिंसा फैलाने वाले कावड़ियों के खिलाफ सख्त एक्शन लेने के निर्देश दिए हैं।

यहां पर बता दें कि पिछले एक सप्ताह के दौरान कांवड़ यात्रियों ने दिल्ली के साथ यूपी के मुजफ्फनगर, सहारनपुर, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, बुलंदशहर जैसी जगहों पर जमकर उत्पाद मचाया। आस्था के नाम पर देश की राजधानी दिल्ली में भी कांवड़ियों की गुंडागर्दी देखने को मिली। दिल्ली के मोती नगर इलाके में कावड़ियों सड़क हादसे के बाद खूब हंगामा किया और इसके बाद कार के साथ तोड़ फोड़ की।

दरअसल मंगलवार को एक कांवड़िये को कार से चोट लग गई। इस पर कांवड़ियों ने एक जुट होकर कार पर लाठी डंडें बरसाने शुरू कर दिए। इस घटना के चलते सड़क पर आ जा रहे लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी और रास्ता जाम कर दिया गया। इसके बाद भी कांवड़ियों का गुस्सा शांत नहीं हुआ और उन्होंने कार को रोड़ पर पलट दिया। वहीं. मामले को शांत करने के लिए मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मी भी कावड़ियों की गुंडागर्दी के सामने बेबस नजर आए।

इससे पहले 5 जुलाई की शाम को ग्रेटर नोएडा में भगवान शिव के भक्त में भयंकर झगड़ा होने के चलते हड़कंप मच गया। नोएडा के पचायतन गांव में कांवड़ियों के दो पक्षों में शिवरात्रि के दिन भंडारा करने और चंदर इक्कठा करने के मुद्दे को लेकर जमकर झड़प हो गई। संघर्ष इतना भयानक था कि इसमें दोनों तरफ के गुट से लगभग एक दर्जन लोग को चोटें आईं। इस झगड़े के दौरान कुछ लोग दूसरे गुट को हाथों में रायफल, लाठी, तलवार लिए धमकाने में लगे हुए थे। दोनों गुटों में बहस हो गई और देखते ही देखते दोनो गुट आपस में भिड़ पड़े। इस मामले में आरोपी है कि एक गुट की तरफ से तो फायरिंग भी की गई। जिससे गांव में डर का माहौल हो गया।

7 जुलाई को दिल्ली के बेहद करीब यूपी के बुलंदशहर में कांवड़ियों ने पहले पुलिस की जीप पर हमला किया था। इसके बाद पुलिस की जीप में तोड़फोड़ करने के बाद पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा था। हालात ऐसा बन गए कि जान बचाने के लिए पुलिस वालों को मौके से भागना पड़ा था। वहीं, घटना स्थल पर पहुंची पुलिस को हालात काबू करने में घंटों मशक्कत करनी पड़ी। कांवड़ियों ने कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाते हुए पुलिस की जीप पर हमला कर दिया और जमकर उत्पात मचाया था। इस दौरान हुड़दंग कर रहे कांवड़ियों ने पुलिस को भी नहीं छोड़ा और उनकी ही सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा था।