देवबंद। पाकिस्तानी लेखक तारिक फतेह को मुस्लिम विद्वान ने इस्लाम पर खुली बहस की चुनौती दी है। कहा है कि तारिक इस्लाम के बारे में किसी भी बिंदु पर बहस कर सकते हैं।

तारिक, एक न्यूज चैनल पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम 'फतह का फतवा' में इस्लाम पर लगातार अपना नजरिया पेश करते आ रहे हैं। कई बार उनकी तल्ख टिप्पणियां सुर्खियों में रहती हैं।

तारिक के विचारों से असहमत देवबंद के इंस्टीट्यूट ऑफ इस्लामिक थाट के निदेशक डॉ. मुफ्ती यासिर नदीम ने सीधे संवाद के लिए ट्वीटर पर उनको चुनौती दी है।

डॉ. नदीम ने तारिक फतेह के इस्लाम पर किए गए प्रश्नों के व्यावहारिक, बौद्धिक एवं तार्किक उत्तर सोशल मीडिया फेसबुक, यू-ट््‌यूब के माध्यम से भी दिए हैं। इसे देश व दुनिया के हजारों लोगों ने देखा और सराहा है।

डॉ. यासिर ने बताया कि उन्होंने तारिक को सीधे संवाद के लिए ट््‌वीटर पर चुनौती दी है लेकिन, तारिक ने इसे स्वीकार करने से इन्कार कर दिया है।

इंस्टीट््‌यूट ऑफ इस्लामिक थाट के अध्यक्ष डॉ. आतिफ सुहैल सिद्दीकी ने बताया कि तारिक फतेह का डॉ. यासिर से सीधे डिबेट करने से बचना उनकी हार को दर्शाता है।

साबित होता है कि यह व्यक्ति भारत में किसी खास कारणों से रह रहा है। तारिक झूठ के जरिए देश में धार्मिक उन्माद और वैमनस्य को बढ़ावा दे रहे हैं।