पटना। चार दिन पहले सुरक्षाकर्मियों को चकमा देकर बोधगया से गायब हुए राजद प्रमुख लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव शुक्रवार को अचानक प्रकट हुए। मीडिया के माध्यम से उन्होंने अपनी बात रखी और कहा कि वह अपने फैसले पर अड़े हैं। तेजप्रताप ने घर लौटने के लिए तलाक पर समर्थन की शर्त रखी है।

उन्होंने कहा है कि जब तक परिवार पत्नी ऐश्वर्या राय को तलाक देने के उनके फैसले का समर्थन नहीं करता है, तब तक वह घर नहीं लौटेंगे। बोधगया, बनारस और विंध्याचल के बाद तेजप्रताप ने अब मथुरा में डेरा जमा रखा है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के 29वें जन्मदिन पर तेजप्रताप ने फोन पर मैसेज के जरिये शुभकामना दी।

इसके लिए तेजस्वी ने आभार भी जताया। तेजप्रताप अब मथुरा में अभिनंदन यादव एवं लवकुश यादव समेत अपने पांच दोस्तों के साथ राजनीति से दूर भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति में जुटे हैं। शुक्रवार को उन्होंने गोकुल का दर्शन किया। चौरासी खंभा भी गए। गौशालाओं में जाकर गायों की सेवा की।

अपने छोटे भाई तेजस्वी को अर्जुन बताने वाले तेजप्रताप ने अपने परिवार वालों को आगाह किया है कि उनके घर में कुछ 'दुर्योधन' हैं, जिनसे बचकर रहना जरूरी है। वे भाइयों के बीच दरार पैदा करना चाहते हैं। तेजप्रताप का संकेत अपने पूर्व पीएस (निजी सचिव) ओमप्रकाश एवं उनके भाइयों से है। ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय के पीएस विपिन से भी तेजप्रताप को बहुत शिकायतें हैं।

परिवार को नहीं, पत्नी को छोड़ना है : ऐश्वर्या से तलाक पर अड़े तेजप्रताप ने सुलह की कोशिशों पर विराम लगाते हुए अपने करीबियों को चेताया है कि जो कोई भी ऐश्वर्या का साथ देगा वह मेरा हितैषी नहीं होगा। उन्होंने फिर दोहराया है कि वह आजीवन अपने भाई का साथ देंगे, लेकिन ऐश्वर्या के साथ उन्हें नहीं रहना।

उन्होंने आरोप लगाया कि ऐश्वर्या उनके परिवार को जलील करती रहती थी। उन्होंने साफ किया कि वह किसी से दूर नहीं जा रहे हैं, बल्कि परिवार वाले हमें दूर करना चाह रहे हैं। हमारे फैसले के साथ कोई नहीं है। माता-पिता भी ऐश्वर्या का साथ दे रहे हैं।

लालू के लाल की गुहार - मुझे अपनी जिदगी जी लेने दो भाई :

तेजप्रताप जिदगी में सुकून की तलाश कर रहे हैं। इसे खोजते हुए वह ब्रज की कुंज गलियों में भटक रहे हैं। शुक्रवार को दैनिक जागरण से सामना होते ही बोल उठे- 'मुझे अपनी जिदगी जी लेने दो भाई। मैं शांति की तलाश में हूं।'

मीडिया से बचने के लिए तेजप्रताप अपनी निजी कार छोड़ दिल्ली के नंबर की इनोवा गाड़ी में बैठ तेज रफ्तार से हाईवे की ओर निकल गए। उन्होंने कुर्ता-धोती पहन रखी था और माथे पर गौड़ीय संप्रदाय का प्रतीक खड़ा तिलक लगा था।

मीडियाकर्मी पीछा करने के बावजूद उनकी गाड़ी के नजदीक नहीं पहुंच सके। मीडियाकर्मी जब तेजप्रताप की कार का पीछा करते हुए वीडियो बना रहे थे तो तेजप्रताप के साथी भी मीडियाकर्मियों का वीडियो बनाने लगे। तेजप्रताप ने कहा कि सबके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराऊंगा।

इस बार छठ नहीं करेंगी राबड़ी

राजद प्रमुख लालू प्रसाद के जेल में रहने और बड़े पुत्र के रूठकर चले जाने से दुखी राबड़ी देवी ने इस बार छठ-व्रत नहीं करने का फैसला किया है। लालू परिवार के करीबी विधायक भोला यादव ने बताया कि पूर्व सीएम की सेहत भी ठीक नहीं है।