अररिया। बिहार के अररिया में जमीन के विवाद को लेकर तीन बच्चों सहित गर्भवती मां की गला रेतकर हत्या कर दी। अपराधियों ने महिला का पेट सिर्फ इसलिए फाड़ दिया, ताकि गर्भस्थ शिशु की भी मौत हो जाए। वारदात के समय घर का मुखिया शौचालय में था, इसलिए उसकी जान बच गई। शोर मचाने पर आरोपी कमरे के दरवाजा बंद कर खिड़की के रास्ते भाग निकले।

हत्याकांड की यह वारदात अररिया बस्ती पंचायत के वार्ड संख्या दो अंतर्गत माधोपाड़ा कुल्हैया बस्ती में गुरुवार रात 11 बजे हुई। अररिया के एसपी धुरत सायली के मुताबिक सभी अपराधियों की पहचान कर तीन को हिरासत में लिया गया है। आरोपियों से पूछताछ जारी है। पूछताछ में जमीन विवाद को लेकर हत्या की घटना को अंजाम देने की बात सामने आ रही है।

दो दिन पूर्व हुआ था जमीन विवाद का फैसला

चार साल पहले चार बीघा जमीन खरीदी गई थी। इस जमीन को लेकर मो. आलम और मो. आरिफ के बीच वाद चल रहा था। इस वाद को लेकर डीसीएलआर अररिया में दायर मुकदमे में दो दिन पहले फैसला आया था। इसमें मो. आलम और उनके भाई की जीत हुई थी। इसी को लेकर दूसरे पक्ष ने हत्या की।

घटना के समय महिला का पति मो. आलम (50) शौचालय गया में था। इस बीच सात अपराधियों ने आलम की पत्नी तबस्सुम (30), आठ वर्षीय पुत्र शब्बीर, छह वर्षीय पुत्री आलिया, चार वर्षीय पुत्र समीर की गला रेत कर हत्या कर दी। शौचालय से निकलकर पति ने शोर मचाया और कमरे को बंद कर दिया, लेकिन अपराधी खिड़की के रास्ते निकल भागे।