नई दिल्ली। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने के लिए देशव्यापी आंदोलन करने का बिगुल फूंक दिया है। विहिप ने केंद्र सरकार पर दबाव बनाने की रणनीति का एलान करते हुए कहा कि वह 25 नवंबर से अयोध्या से देश भर में कई रैलियों की शुरुआत करेगा।

विहिप के प्रवक्ता विनोद बंसल ने शुक्रवार को घोषणा की कि सरकार के जल्द एक कानून लाकर अयोध्या में भव्य मंदिर बनाने की मांग को लेकर वह 25 नवंबर से देशव्यापी रैलियां निकालेंगे। इस दिन अयोध्या, नागपुर और बेंगलुरु में तीन रैलियां होंगी। इसके बाद दिसंबर में भी कई रैलियां होंगी। नौ दिसंबर को देश की राजधानी दिल्ली में भी महारैली की जाएगी। लाखों रामभक्त इन रैलियों में हिस्सा लेंगे। इसके बाद 18 दिसंबर से राम मंदिर के लिए देशव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा।

संतों के साथ दिन भर चली बैठक के बाद विहिप के प्रवक्ता ने बताया कि प्रत्येक संसदीय क्षेत्र में जनसभाएं की जाएंगी। संतों का प्रतिनिधिमंडल उनके सांसदों से मुलाकात करेगा। साथ ही उनसे अपील करेगा कि वह राम मंदिर बनाने के लिए संसद में कानून बनाएं।

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट के रामजन्म भूमि मामले में जनवरी तक सुनवाई टालने के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और विहिप केंद्र सरकार से संसद के शीत सत्र में राम मंदिर बनाने के लिए कानून लाने की अपील कर रहे हैं। विहिप ने यह आह्वान प्रयागराज में जनवरी में होने वाली दो दिवसीय धर्मसंसद से कुछ अरसे पहले ही किया है।