शिमला। हिमाचल प्रदेश के पहाड़ी इलाकों में रविवार को भारी बर्फबारी हुआ है। इसके चलते मैदान इलाकों में लोगों को अभी कुछ दिन और कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ेगा।

जानकारी के मुताबिक,हिमाचल प्रदेश में शिमला, मनाली, चंबा व मंडी में भारी बर्फबारी हुई है। पर्यटन नगरी मनाली में करीब एक फीट बर्फबारी हुई है। इससे आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो कर रह गया है। मनाली में रविवार की रात 2:00 बजे से बर्फबारी का सिलसिला शुरू हुआ, जो सुबह 9:00 बजे तक चलता रहा। बर्फबारी के कारण हजारों पर्यटक मनाली और सोलंग नाला वैली में फंस गए हैं।

बर्फबारी के कारण देर रात से मनाली सहित आसपास के इलाकों में बिजली भी गुल हो गई है। सुबह 9:30 बजे से कुछ वाहन कुल्लू की तरफ निकलना शुरू हुए हैं। लेकिन सोलंग वैली की तरफ से अभी सड़क खुलने की कोई उम्मीद नहीं है। कुल्लू की ओर से आ रही बसें भी आठ किमी पहले ही क्लॉथ तक पहुंच रही है।

मौसम विभाग के अनुसार 15 व 16 जनवरी तक पश्चिमी हवाएं लौट जाएंगी, जिससे 18 जनवरी तक मौसम शुष्क बना रहेगा। इस बीच, रविवार सुबह मनाली में ताजा बर्फबारी हुई।

मौसम विभाग के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह का कहना है कि शनिवार रात को अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों कुल्लू, लाहुल-स्पीति, मंडी, सिरमौर, चंबा की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी व निचले इलाकों में व्यापक बारिश होने की संभावना है। जिससे प्रदेशवासियों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ेगा।

शनिवार को प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में बादल छाए रहे, जबकि ऊंचाई वाले क्षेत्रों में एक-दो स्थानों पर ताजा हिमपात दर्ज किया गया है। जिसमें भरमौर, रोहतांग, रकछम, छितकुल शामिल है। ऊपरी क्षेत्रों में हिमपात होने के कारण प्रदेशभर में लोगों को कड़ाके की ठंड से जूझना पड़ रहा है।

इस कारण न्यूनतम और अधिकतम तापमान में गिरावट आएगी जिससे लोगों को भारी ठंड का सामना करना पड़ेगा। मौसम विभाग के अनुसार 24 घंटों के दौरान न्यूनतम तापमान व अधिकतम तापमान में सामान्य से 1 से 2 डिग्री तापमान में कमी आई है।