नई दिल्ली। साहित्य अकादमी ने इस बार 23 भाषाओं में वार्षिक युवा पुरस्कारों की घोषणा की है। 13 कविता संग्रह, तीन उपन्यास, छह कहानी संग्रह और एक साहित्यिक समालोचना के लिए पुरस्कार घोषित किया गया है। हिंदी में इस पुरस्कार के लिए भोपाल की लेखिका इंदिरा दांगी को चयनित किया गया है।

उन्हें उपन्यास 'हवेली सनातनपुर' के लिए 50 हजार रुपये नकद और ताम्रपत्र प्रदान किया जाएगा। मध्यकालीन साहित्य के क्षेत्र में योगदान करने पर वर्ष 2013 (दक्षिणी क्षेत्र) के लिए डॉ. के. मीनाक्षी सुंदरम व वर्ष 2014 (पूर्वी क्षेत्र) के लिए आचार्य मुनिश्र्वर झा को चुना गया है।

कुमाउनी भाषा (अकादमी की मान्यता प्राप्त नहीं है) की समृद्धि में बहुमूल्य योगदान के लिए चारु चंद्र पांडेय एवं मथुरादत्त मठपाल को संयुक्त रूप से भाषा सम्मान प्रदान करने की घोषणा की गई है। प्रत्येक भाषा सम्मान के अंतर्गत एक लाख रुपये नकद, ताम्रफलक तथा प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया जाता है।

संयुक्त विजेता की स्थिति में पुरस्कार राशि को समान रूप से दोनों विजेताओं द्वारा साझा किया जाएगा। सम्मान विशेष समारोह में साहित्य अकादमी के अध्यक्ष द्वारा प्रदान किया जाएगा।