जयपुर। केंद्र सराकर मेधावी छात्रों को 75 हजार रुपए महीना स्कॉलरशिप देने की योजना बना रही है। प्राइम मिनिस्टर स्कॉलरशिप योजना के तहत देश के 1000 छात्रों को यह छात्रवृत्ति दी जाएगी। यह जानकारी केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने दी।

जयपुर की मनिपाल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में बोलते हुए जावड़ेकर ने कहा कि सरकार ने इसके लिए 20 हजार करोड़ रुपए का बजट तय किया है। उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है कि उच्च अध्ययन के लिए विदेश जाने वाले विद्यार्थी देश में ही रहकर अध्ययन करे और शोध करें। सरकार इसके प्रयास में जुटी हुई है और आने वाले समय में इसके परिणाम सामने आएंगे।

उन्होंने कहा कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध करवाने और युवा अच्छा इंसान बने इसके लिए सरकार देश में 20 विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय स्थापित करेगी। सरकार की कोशिश रहेगी कि प्रस्तावित विश्विद्यालय दो सौ विश्वस्तरीय विश्वविद्यालयों की सूची में अपनी जगह बना सकें। इसके अगले साल ये ग्लोबल 100 यूनिवर्सिटी में जगह बना सकें।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के न्यू इंडिया कैंपेन के बारे में बोलते हुए जावडे़कर ने कहा कि प्रधानमंत्री युवाओं की शक्ति में विश्वास करते हैं और देश में शिक्षा के स्तर में सुधार के बारे में प्रतिबद्ध हैं। देश में ब्रेन ड्रेन यानी अच्छी प्रतिभा का विदेशों में चले जाने के लिए जावड़ेकर ने तीन कारण बताए।

सबसे पहला, विदेशों में छात्रों को सबसे अच्छी रिसर्च लैब मिलती हैं। इसके बाद उन्हें वहां अच्छी स्कॉलरशिप मिलती हैं ताकि वे सरवाइव कर सकें और खुद को मेंटेन रख सकें। तीसरा कारण है कि उन्हें वहां सबसे अच्छा मार्गदर्शन मिलता है। उन्होंने कहा कि अब सरकार इन तीनों चीजों को देश में ही मुहैया कराने की कोशिश कर रही है।