पटना। केंद्र सरकार द्वारा लालू यादव की सुरक्षा में कटौती किए जाने पर उनके बेटे भड़के हुए हैं। तेज प्रताप ने तो केंद्र सरकार पर लालू की हत्या का षडयंत्र करने तक का आरोप लगा दिया। इसके बाद अब इस मुद्दे पर लालू बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ट्वीट सामने आया है। उन्होंने इसमें बिना किसी का नाम लिए लालू यादव और उनके बेटों पर तंज कसा है।

नीतीश ने अपने ट्वीट में लालू पर तंज कसते हुए कहा है कि राज्य सरकार द्वारा 'Z' Plus और एसएसजी की मिली हुई सुरक्षा के बावजूद केंद्र सरकार से NSG और CRPF के सैकड़ों सुरक्षा कर्मियों की उपलब्धता के जरिए लोगों पर रौब गांठने की मानसिकता, साहसी व्यक्तित्व का परिचायक है!

एक तरफ जहां लालू की सुरक्षा को जेड प्लस से घटाकर जेड कैटेगरी का कर दिया गया है और उनकी एनएसजी की सुरक्षा भी वापस ले ली गई है तो वहीं दूसरी तरफ जीतन मांझी को अब केंद्र सरकार की तरफ से किसी भी प्रकार की सुरक्षा नहीं दी जाएगी।

गौरतलब है कि लालू प्रसाद यादव ने केंद्र सरकार के इस फैसले का जवाब देते हुए आरोप लगाया था कि उनकी सुरक्षा में कमी के बाद अगर उनकी जान को किसी प्रकार का खतरा होता है या कोई घटना उनके साथ होती है तो इसके लिए सीधे तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिम्मेदार होंगे।

बता दें कि लालू यादव की सुरक्षा में कटौती किए जाने की बात पर सोमवार को उनके बड़े बेटे तेजप्रताप ने पीएम मोदी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की थी, जिसके बाद राजनीतिक महकमे में खूब बयानबाजी हुई। बीजेपी नेताओं ने जहां लालू यादव को अपने बेटे का इलाज मनोचिकित्सक से कराने की सलाह दे डाली तो वहीं दिल्ली के एक पुलिस स्टेशन में तेजप्रताप के खिलाफ एफआइआर भी दर्ज किया गया है।

तेजप्रताप के पीएम के लिए दिए गए इस आपत्तिजनक बयान पर प्रमुख राजनेताओ ने घोर आपत्ति की है। इससे पहले भी तेजप्रताप यादव ने बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को भी धमकी दी थी।