नई दिल्ली. योग गुरु और पतंजलि के संस्थापक बाबा रामदेव ने कहा है कि मुस्लिमों को भी गोमूत्र अपनाना चाहिए। रामदेव ने कहा, "कुरान में लिखा है कि गोमूत्र इलाज के लिए प्रयोग किया जा सकता है। कुछ लोग पतंजलि को निशाना बना रहे हैं कि यह एक हिंदू की कंपनी है।" उन्होंने सवाल किया कि क्या कभी उन्होंने हमदर्द (हमीद बंधुओं द्वारा संस्थापित) पर निशाना साधा है?

एक निजी टीवी चैनल के साक्षात्कार में रामदेव ने कहा, "मेरा हमदर्द और हिमालय दवा कंपनी को पूरा समर्थन है। हिमालय समूह के फारूक भाई ने मुझे योगग्राम के लिए जमीन दान दी है। यदि कुछ लोग आरोप लगा रहे हैं तो वह सिर्फ नफरत की दीवार खड़ी कर रहे हैं।"

बाबा रामदेव ने कहा कि उन्होंने 10,000 करोड़ के पतंजलि समूह के लिए उत्तराधिकारी की एक योजना तैयार कर ली है।

उन्होंने कहा, "मेरा उत्तराधिकारी कोई व्यापारी नहीं होगा और न ही कोई सांसारिक आदमी, बल्कि वह एक 500 साधुओं की टीम होगी जिसे मैंने प्रशिक्षित किया है। मैं कभी छोटा नहीं सोचता। मैं बड़ा सोचता हूं। मैं आने वाले 500 सालों में हमारे देश के बारे में सोचता हूं। मैं पतंजलि समूह के अगले 100 सालों के बारे में सोचता हूं। मैं अपने उत्तराधिकारी को अपने पीछे छोड़कर जाऊंगा।"