Naidunia
    Sunday, February 18, 2018
    PreviousNext

    70 करोड़ से ज्यादा ईंटों से बना है राष्ट्रपति भवन, जानिए ऐसे ही कई रोचक तथ्य

    Published: Tue, 09 Jan 2018 12:33 PM (IST) | Updated: Tue, 09 Jan 2018 12:36 PM (IST)
    By: Editorial Team
    rashtrapati bhavan 09 01 2018

    मल्टीमीडिया डेस्क। हो सकता है आपने राष्ट्रपति भवन को अभी तक केवल तस्वीरों में या दूर से ही देखा होगा। लेकिन, अब आप भी इसे अंदर से देख सकते हैं। इसके लिए देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खुद जनता को आमंत्रित किया है। इसके साथ ही उन्होंने एक वीडियो भी ट्वीट किया है। बीते रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की ओर से किए गए ट्वीट में लोगों को आमंत्रण देते हुए कहा गया है, 'भारत के लोकतंत्र के प्रतीक राष्ट्रपति भवन में आप सबका हार्दिक स्वागत है। राष्ट्रपति भवन सभी देशवासियों का है। आप इसे देखने जरूर आइए।'

    आपको बता दें कि राष्ट्रपति भवन भारत के राष्ट्रपति का सरकारी निवास स्थान है और 1950 तक इसे वायसराय हाउस ही कहते थे। यह तब बनी थी जब भारत की राजधानी कोलकाता से दिल्ली स्थानांतरित की गई।

    आइए जानते हैं राष्ट्रपति भवन से जुड़े ऐसे ही रोचक तथ्य -

    - तुर्की और ऑस्ट्रिया के बाद भारत का राष्ट्रपति भवन विश्व का तीसरा सबसे बड़ा सरकारी निवास स्थान है।

    - इस महल में 340 कमरे हैं। वर्तमान में भारत के राष्ट्रपति उन कक्षों में नहीं रहते, जहां वायसराय रहते थे। बल्कि वे अतिथि कक्ष में रहते हैं।

    - इस भवन के निर्माण में 70 करोड़ से ज्यादा ईंटें और 35 लाख घन फीट से ज्यादा पत्थर लगा है, जिसके साथ लोहे का इस्तेमाल न के बराबर हुआ है। इसके निर्माण में 29 हजार लोगों ने अथक परिश्रम किया।

    - इस भवन को बनाने में 17 साल लगे थे। राष्ट्रपति भवन का निर्माण कार्य 1912 में शुरू किया गया था और 1929 में पूरा किया गया। इसके लिए लगभग 300 परिवारों को अन्य जगह स्थानांतरित किया गया।


    - ब्रिटिश वास्तुकार सर एडविन लैंडसियर लुटियंस को इसके निर्माण का जिम्मा सौंपा गया था, जिन्होंने ब्रिटेन में भी वायसराय हाउस का निर्माण करवाया था। राष्ट्रपति भवन के निर्माण कार्य के दौरान वे दोनों देशों के बीच लगातार 20 सालों तक आते-जाते रहे।

    - राष्ट्रपति भवन प्रागंण में एक ड्राइंग रूम, खाने का एक कमरा, एक बैंक्वेट हॉल, एक टेनिस कोर्ट, एक पोलो ग्राउंड, क्रिकेट का एक मैदान और एक संग्रहालय भी है। साथ ही साथ यहां बच्चों के लिए दो गैलरीज भी हैं।

    - राष्ट्रपति भवन परिसर में ही मुगल व ब्रिटिश शैली के अनूठे मिश्रण से बना मुगल गार्डन है, जो तकरीबन 13 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां फूलों की कुछ विदेशी किस्में भी शामिल हैं। मुगल गार्डन हर साल जनता के लिए फरवरी-मार्च के बीच खुलता है।

    राष्ट्रपति भवन देखने के लिए ऐसे करवा सकते हैं रजिस्ट्रेशन -

    - राष्ट्रपति भवन देखने के लिए सबसे पहले आपको रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

    - राष्ट्रपति भवन देखने के लिए किए गए बुकिंग की कंफर्मेशन ई-मेल या एसएमएस के जरिये की जाती है।

    - यहां आने के पहले आप सुनिश्चित कर लें कि आपके पास वैध फोटो आइडेंटी कार्ड हो। विदेशी नागरिकों के लिए पासपोर्ट होना जरूरी है।

    - ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाते समय 50 रुपए अदा करने होंगे। 8 साल से कम उम्र के बच्चों की एंट्री फ्री है। यदि आप समूह में जाते हैं और 30 लोगों का समूह है तो आपको 20 फीसद की छूट भी मिलेगी।

    - राष्ट्रपति भवन गुरुवार से रविवार को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक खुला रहता है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें