जौनपुर। पूर्वांचल विश्वविद्यालय में योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि 25 वर्ष पहले योग की शुरुआत की। शुरुआती दौर में 75 हजार का टर्न ओवर हुआ करता था। आज पतंजलि से जुड़कर डेढ़ लाख लोग नौकरी कर रहे हैं। एलोपैथ का डॉक्टर भी मुक्तावती का प्रयोग कर रहा है, यह आयुर्वेद की विजय है। 50 हजार डॉक्टर को नौकरी को ऑफर दिया। अब आयुर्वेद को गरिमा मिली है।

अब पतंजलि ने 10 हजार छात्रों के लिए कॉलेज खोले हैं इसके साथ ही एक लाख से अधिक निशुल्क सेंटर आयर्वेद की चल रही है। जो दुनिया में नहीं हुआ वो हमने योग से कर दिखाया। इंदिरा जी और नेहरू जी पहले योग करते थे अब आम आदमी के लिए शुलभ हुआ है।1 00 लाख करोड़ की दवा बिकती है लेकिन एक भी दवा काम नहीं आई। अनलोम- विलोम और लौकी से यह समस्या दूर हुई है। योग से सभी सभी बीमारियों को दूर किया जा सकता है यहां तक कि कैंसर भी। 50 लाख की किट हार्मोन चेक करने के लिए बाहर से मंगवाई लेकिन योग से स्ट्रेस की समस्या को आसानी से दूर कर दिया। योग करने से बॉडी का स्ट्रक्चर और करेक्टर दोनों ठीक रहते है।

कालेधन पर बोलते हुए रामदेव ने कहा कि यह मामला हमने उठाया था। अब यह काम हमने देश के प्रधानमंत्री और जेटली जी पर छोड़ दिया है। अब काले मन को सही करने का प्रयास कर रहा हूं। वेद के माध्यम से बहुत कुछ सीखा है। ब्राह्मण के अलावा विभिन्न जातियों को वेद का ज्ञान दिलाया।

एकता समानता के सूत्र में समाज को बांधने का काम हमने काम किया। योग के नाम पर धर्म परिवर्तन नहीं बल्कि जीवन परिवर्तन हैं। स्वदेशी शिक्षा, भजन, भोजन पर हम सब भारतीय गौरव करते हैं। देश को आर्थिक और सांस्कृतिक आजादी तक हमारा स्वदेशी का प्रयास जारी रहेगा। पतंजलि का 100 फीसदी फायदा चैरिटी के लिए किया जाएगा। कर्नाटक के नाटक कुछ ज्यादा हो गया है इसपर कुछ ज्यादा ही नाटक हो रहा है।19 करोड़ गाय हैं जिसका पतंजलि घी बेच रहा है।