चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और उनके मंत्री इस साल से अपना इनकम टैक्स अपनी जेब से भरेंगे। यह निर्णय कैप्टन की अगुवाई में हुई कैबिनेट की मीटिंग में गुरुवार को सभी ने स्वेच्छा से लिया। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों जब राज्य की आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाने के लिए वित्त विभाग के अधिकारियों के साथ मीटिंग हुई थी तो उसमें विधायकों व मंत्रियों को अपनी जेब से इनकम टैक्स भरने की अपील की गई थी।

पिछले 14 साल से पंजाब सरकार इनका इनकम टैक्स भर रही है। मंत्रियों के बारे में कैबिनेट में फैसला हो गया है, जबकि विधायकों के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बारे में अंतिम फैसला प्रस्ताव पर विधायकों का फीडबैक मिलने के बाद लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने राज्य में मंत्रियों और विधायकों सहित चुने हुए प्रतिनिधियों को सुझाव दिया था कि उनको अपना आयकर स्वयं अदा करना चाहिए जिसके बाद समूची कैबिनेट ने पहल करते हुए यह घोषणा की।