फतेहाबाद। संजय बंदरों से बहुत परेशान था। सोच रहा था कि एक लंगूर पाल ले। इसी दौरान उसकी शादी हो गई और ससुराल वालों ने शादी में लंगूर देकर उसकी समस्या का समाधान कर दिया। टोहाना के संजय पूनिया दहेज में लंगूर पाकर बहुत खुश हैं। संजय पूनिया की शादी 11 फरवरी को पहले जींद के उचाना के गांव डवाना खेड़ा निवासी हरीचंद की बेटी रितु के साथ हुई है।

संजय ने बताया कि उनके आसपास के इलाके में काफी बंदर हैं। उसके घर के पास उसकी दो एकड़ भूमि है। उसमें भैसों के लिए हरा चारा उगाते हैं। जब वह खेत में जाते हैं तो बंदर पीछे लग जाते हैं। परेशान करते हैं। कई बार तो वह उनकी चपेट में आते-आते बचा। वह सोच ही रहा था कि क्यों न एक लंगूर पाल लिया जाए ताकि इन बंदरों से निजात मिल सके। यह बात उसके ससुराल वालों को कहीं से पता चल गई। इसके बाद उन्होंने शादी में अन्य सामान के साथ लंगूर भी दे दिया। शादी में लंगूर मिलने की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है। संजय के मुताबिक लंगूर से बंदर काफी डरते हैं। इसलिए वह खेत में उसे साथ ले जाया करेगा। वहां पर वह बंदरों से खुद ही निपट लिया करेगा।