रामपुर। तलाक पीड़िता के साथ हलाला के नाम पर देवर ने दुष्कर्म किया। इससे पहले उसके ससुर व चचेरे देवर ने भी दुष्कर्म किया। महिला ने पति समेत पांच के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

उप्र के रामपुर स्थित स्वार कस्बे के एक मुहल्ले की युवती का निकाह ढाई साल पहले मुहल्ला काशीपुर निवासी एक युवक के साथ हुआ था।

युवक के परिजन दोनों के प्रेम विवाह से नाराज थे, जिसके बाद युवक पत्नी को लेकर रामपुर में रहने लगा। फिर ससुरालियों का भी आना जाना शुरू हो गया। कुछ दिन बाद ही पति-पत्नी में अनबन होने लगी।

महिला का आरोप है कि पति उसके साथ कुकर्म करने लगा और ससुर भी बुरी नजर रखने लगा। आठ मार्च को जब वह अपने कमरे में अकेली थी, तभी ससुर आया और तमंचे के बल पर दुष्कर्म किया। शिकायत करने पर बेटे से तलाक दिलवाने की धमकी दी।

ससुर घर में अकेला देखकर लगातार दुष्कर्म करता रहा। पति ने 14 मई 2018 को ससुर, सास, देवर के कहने पर तीन तलाक दे दिया। पति का चचेरा भाई इद्दत के बहाने घर ले गया।

22 मई को उसने भी दुष्कर्म किया। वह रोती हुई पति के पास पहुंची। तब पति ने निकाह करने के लिए दोबारा अपने सगे भाई से हलाला करने की शर्त रखी।

परिवार के सभी लोगों ने उसे देवर के कमरे में भेजा, जहां सगे देवर ने हलाला के नाम पर दुष्कर्म किया। लेकिन इसके बाद भी पति दोबारा निकाह करने से मुकर गया और उसे पीटकर घर से निकाल दिया।

कोतवाल राजेश कुमार तिवारी ने बताया कि तलाक पीड़िता की ओर से तहरीर मिली थी, जिस पर पांच लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।