फिरोजपुर। थाना कुलगड़ी के अंतर्गत पड़ते गांव रूकना मुंगला से तकरीबन साढ़े तीन महीने पहले अगवा हुई युवती (20) के साथ अपहरणकर्ता साढ़े तीन माह तक दुष्कर्म करते रहे।

युवती की मां ने बताया कि तकरीबन एक साल पहले पीर की दरगाह पर उसे एक महिला सर्बजीत कौर पत्नी जोगा मिली थी। इसके बाद सर्बजीत कौर तथा उसके लड़के रवि का उसके घर आना जाना हो गया।

31 मई 2018 को जब वह मजदूरी के लिए बाहर गई थी तो आरोपित महिला का बेटा रवि उसकी बेटी को मोबाइल का सिम कार्ड दिलाने की बात कह कहकर मोटरसाइकिल पर बिठाकर ले गया। फिर बोहड़ सिह के साथ कार में बिठा कर उसे राजस्थान के किली गांव में ले गया।

वहां बेटी को साढ़े तीन महीने तक रखा। इस दौरान दोनों उसके साथ दुष्कर्म करते रहे। मारपीट भी की। वह उसे किसी को बेचने की बात भी करते थे।

चार दिन पहले आरोपित उसे मक्खू ले आए, जहां उसे एक किराये के मकान में रखा। इस दौरान जैसे तैसे बेटी वहां से भाग निकली और घर आकर आपबीती बताई।

पीड़िता की मां ने बताया कि बेटी को अगवा करने की शिकायत उसने एक जून को थाना कुलगड़ी को दे दी थी, लेकिन पुलिस ने कोई कारवाई नहीं की। इस बाबत कुलगड़ी थाना प्रभारी ने बताया कि मामला मेरे संज्ञान में नहीं है।