देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 मई को केदारनाथ में बनी गुफा में ध्यान कर रहे हैं। यह गुफा केदारनाथ मंदिर के बायीं ओर की पहाड़ी पर स्थित है। केदारनाथ में पांच मीटर लंबी और तीन मीटर चौड़ी यह गुफा पीएम मोदी के निर्देश पर तैयार की गई है। यह गुफा केदारनाथ मंदिर परिसर से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर बनी है। इस गुफा का निर्माण अप्रैल में शुरू किया गया था, जिस पर साढ़े आठ लाख रुपए का खर्च हुआ था। इसे रुद्र गुफा नाम दिया गया है।

नेहरू पर्वतारोहण संस्थान ने रुद्र गुफा का निर्माण किया है। बताते चलें कि केदारनाथ में पांच गुफाओं का निर्माण होना है। यह पहली गुफा ट्रायल के तौर पर बनाई गई है। गुफा को एक व्यक्ति अधिकतम तीन दिन के लिए ही बुक करा सकता है।

जरूरी होने पर ही बुकिंग की अवधि बढ़ाई जाएगी। गुफा की बुकिंग में कितना खर्च आएगा, यह तय भी गढ़वाल मंडल विकास निगम ही करेगा।

डीएम ने बताया कि गुफा की बुकिंग कराने वाले व्यक्ति का पहले गुप्तकाशी में मेडिकल कराया जाएगा। इसके बाद केदारनाथ में भी मेडिकल होगा। ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ धाम की ऊंचाई समुद्र तल से 11700 फीट है। जबकि मंदिर परिसर से डेढ़ किमी दूर बनी ध्यान गुफा की ऊंचाई करीब 12250 फीट है। केदारनाथ में हुई त्रासदी के बाद पीएम मोदी ने वहां के विकास का जिम्मा संभाला था। इसके बाद प्रधानमंत्री ने ही केदारनाथ में गुफा बनाने के निर्देश दिए थे।

यह दूसरा मौका है, जब पीएम मोदी केदारनाथ में ध्यान करेंगे। इससे पहले युवावस्था में नरेंद्र मोदी ने गुरुड़चट्टी में आधात्यमिक साधना करते हुए काफी समय बिताया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अक्टूबर 2017 में केदारनाथ में पांच योजनाओं का शिलान्यास किया था। उस समय उन्होंने योग, साधना और आध्यात्म के लिए केदारपुरी में गुफाओं के निर्माण की भी बात कही थी।