कुंभनगर। शाही स्नान से पहले सोमवार को सेक्टर 16 में बने दिगंबर अखाड़ा में आग लगने से पंडाल में बने नौ शिविर आग की चपेट में आ गए। अग्निशमन विभाग की सात गाड़ियों ने आग पर काबू पा लिया।

प्रशासन ने राहत कार्य के बाद फिर से शिविरों को तैयार कराना शुरू कर दिया है। सेक्टर 16 में अखिल भारतीय पंच दिगंबर अनी अखाड़ा का बड़ा पंडाल बना है।

दोपहर में खालसा रसोईघर में भोजन बनाने के दौरान उठी चिगारी ने शिविर को चपेट में ले लिया। इस बीच रसोईघर में रखे दो गैस सिलिंडर एक-एक कर फटे। तीन पेट्रोमैक्स भी फटे।

वहां मौजूद लोगों के अनुसार आग पास के टेंट से आई थी। हालांकि, वक्त रहते दमकल और पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई और इस पर काबू पा लिया जिसके कारण कोई बड़ी घटना नहीं हुई। इस हादसे में अब तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

सूचना पर चार एंबुलेंस भी पहुंच गई थीं। हालांकि आग में दो साधु सामान निकालने में मामूली रूप से झुलसे। महंत जुगुल किशोर दास और रामदास के मुताबिक, लाखों का सामान जल गया। डीआइजी केपी सिह ने बताया कि राहत कार्य बहुत तेजी से शुरू हुआ। आग भोजन बनाते समय लगी।