जसवंत ठाकुर, मनाली। अपनी बेशुमार खूबसूरती, भारी बर्फबारी और जमा देने वाली ठंड की वजह से पहचाने जाने वाले रोहतांग दर्रे में अभी भी 20 फीट बर्फ जमी हुई है। रोहतांग दर्रे में चहलकदमी के लिए अभी लाहुल के लोगों को इंतजार करना पड़ेगा। गौरतलब है इस बार रोहतांग दर्रे में काफी ज्यादा बर्फबारी हुई है।

लाहुल की ओर सिसु से कोकसर के बीच सड़क पर सात से आठ फीट बर्फ की मोटी परत बिछी हुई है, जबकि कोकसर से रोहतांग के बीच आठ से 20 फीट तक बर्फ जमा हो गई है। हालांकि पैदल राहगीरो के लिए बर्फ की मोटी परत मायने नहीं रखती है, लेकिन जब तक बीआरओ सिसु से कोकसर के बीच नही पहुंच जाता, तब तक पैदल राहगीरो के लिए रोहतांग पैदल लांघना जान खतरे में डालने के बराबर है।

मनाली की ओर कोठी से मढी तक की सड़क पांच से 10 फीट मोटी बर्फ से ढकी हुई है, जबकि मढी से रोहतांग तक 10 फीट से 20 फीट बर्फ जमा हुई है। ऐसे हालात में अभी कुछ दिन पैदल रोहतांग पार करना खतरे से खाली नहीं है। इस साल सैलानियों के लिए भी रोहतांग दर्रा देरी से ही बहाल होगा।

अभी स्थापित नही होगी रेस्क्यू पोस्ट

रोहतांग दर्रे को पैदल पार करने वाले लाहुल के लोगों की मदद को लाहुल स्पिति प्रशासन हर साल 15 मार्च को रेस्क्यू पोस्ट स्थापित करती थी, लेकिन उस बार बर्फ बारी अधिक होने के कारण रेस्क्यू पोस्ट देरी से स्थापित होगी। प्रशासन ने कोकसर में जहां रेस्क्यू पोस्ट लगानी है, वहां अभी आठ फीट बर्फ के ढेर लगे हुए हैं। केलांग एसडीएम अमर नेगी ने बताया कि बर्फबारी अधिक होने के कारण अभी दर्रा पैदल पार नहीं किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि हालात सामान्य होने पर ही लोगों को दर्रा पैदल पार करने की अनुमति दी जाएगी। नेगी ने कहा कि पहले प्रशासन हालात का जायजा लेगा उसके बाद ही परिस्थितियां सामान्य होने पर कोकसर व मढी में रेस्क्यू पोस्ट स्थापित करेगा।

कई जगह काम शुरू न करने से लोगो में रोष

बीआरओ ने हालांकि मनाली लेह मार्ग की बहाली शुरू कर दी है, लेकिन लाहुल की पटन घाटी के उदयपुर में स्थित 94 आरसीसी ने अभी कार्य शुरू नही किया है। लाहुल निवासी हरी, सोनम, अशोक व दीपक ने बताया कि केलांग के स्टिंगरी में स्थित बीआरओ 70 आरसीसी ने तो मनाली लेह मार्ग बहाली शुरू कर दी है, लेकिन उदयपुर 94 आरसीसी ने पटन घाटी के मुख्य मार्ग उदयपुर तांदी से अभी एक इंच बर्फ नहीं हटाई है। उन्होंने बीआरओ से आग्रह किया कि इस मार्ग को शीघ्र अतिशीघ्र बहाल किया जाए।

94 आरसीसी के ऑफिसर कमांडिंग मेजर हरीश ने बताया कि कुछ एक स्थानों में मार्ग बहाली शुरू कर दी है, जबकि उदयपुर तांदी मार्ग बहाली की तैयारी चल रही है।