हरियाणवी गानों के साथ खुले मैदान में लाइव परफॉर्मेंस देने वाली गायिका, डांसर सपना चौधरी को अब देशभर के लोग भी उतना ही जानते हैं, जितना हरियाणावासी।

हाल ही में भोजपुरी गाना 'मेरे सामने आके' हाल ही में रिलीज किया गया। सपना का यह वीडियो सोशल मीडिया पर छा गया है। इसे छह दिन में नौ लाख बार देखा गया है। भोजपुरी फिल्म 'बैरी कंगना-2' के गाने पर किए गए डांस ने भी धमाल मचा रखी है।

'तेरा आंख्या का यो काजल' के वीडियो सांग को भी लाखों बार देखा जा चुका है। 'तेरी सॉलिड बॉडी रे' जैसे हरियाणवी गानों पर डांस ने उनकी शोहरत को बुलंदी पर पहुंचाया।

प्रारंभिक जीवन : सपना चौधरी का जन्म 1990 में हुआ था। वह ट्रू इंटरटेनर हैं। प्रारंभिक शिक्षा गांव में ही हुई थी। ऊंचाई भी आम लड़कियों से अधिक 5 फीट 7 इंच है। उनके नृत्य में बिजली की तेजी है। वह गायिका, स्टेज डांसर और मॉडल हैं। परिवार संभालने के लिए डांस सपना हरियाणा के सामान्य परिवार से हैं। परिवार में मां, भाई और बहन हैं। जब वह 11 साल की थीं, तो पिता गुजर गए। घर में पैसों की तंगी थी।

परिवार को संभालने के लिए डांसकी शुरुआत की। सपना ने स्टेज पर रागिनी गाने का नृत्य करने का सिलसिला जारी रखा। धीरे-धीरे प्रसिद्धि मिलने लगी और स्टेज शो के लिए सपना की मांग भी होने लगी।

हाथ पर मां का टैटू : सपना टीवी रियल्टी शो बिग बॉस के 11वें संस्करण में भी शामिल हो चुकी हैं। इसमें उन्होंने बताया था कि कैसे नौवीं कक्षा से ही डांस शुरू कर दिया था। रात में शो करतीं और दिन में स्कूल जाती थीं। मां ने डांस में कॅरियर बनाने के लिए पूरा समर्थन दिया। मां के प्रति प्रेम को उन्होंने अपने हाथ पर मां का टैटू बनवा कर व्यक्त किया है।

विवादों का साया : सपना की शोहरत कुछ लोगों को खटकने लगी। उनके एक गाने में एक जाति विशेष के प्रति आपत्तिजनक पंक्तियों को लेकर उनके खिलाफ सतपाल तंवर नामक युवक ने एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज करवाया। हालांकि इस गाने को पहले भी कई गायक गा चुके थे, इसलिए सपना को कानूनी परेशानी नहीं हुई। लेकिन सोशल मीडिया पर इस पर उन्हें ट्रोल किया जाने लगा, जिससे वह इतनी परेशान हो गईं कि उन्होंने आत्महत्या करने का प्रयास किया। लेकिन परिवार वालों ने वक्त पर अस्पताल पहुंचाकर बचालिया। हाल ही में सपना सोनिया गांधी से भी मिली थीं।