आजमगढ़। उप्र के आजमगढ़ शहर के मुकेरीगंज मोहल्ला स्थित पटाखे की दुकान में रविवार शाम अचानक आग लगने से महिला समेत सात लोगों की मौत हो गई जबकि कम से कम 18 लोग झुलस गए। मकान की छत का मलबा हटाए जाने का काम जारी है। मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका है।

मौक पर दमकल की दो गाड़ियां जहां आग को नियंत्रित करने में जुटी हैं वहीं पुलिस फोर्स मलबा हटाने व शांति व्यवस्था के लिए प्रयासरत है। शहर की घनी आबादी के बीच आधा दर्जन पटाखे की दुकानें हैं।

बताया जा रहा है कि खिलाड़ी गुप्ता के एक मकान में लोहे की सीढ़ी की वेल्डिग हो रही थी। इसी बीच चिगारी निकली व घर के चूल्हे तक पहुंची व पटाखा के संग गैस सिलेंडर को भी अपनी चपेट में ले लिया। घर के लोग भागकर दूसरे कक्ष में गए। इस बीच एक-एक कर पटाखे घंटों फटते रहे।

बताया जा रहा है कि वहां पहले से पटाखे का भंडारण किया गया था। इस बीच आग भयावह रूप लेती रही। स्थानीय लोगों ने अथक प्रयास कर किसी तरह से कुछ झुलसे लोगों को निकाला पर आग की विकरालता देख उनकी भी हिम्मत टूट गई। वहीं रोने, बचाने की आवाज घटों गूंजती रही।

जानकारी होने पर पुलिस फोर्स संग अग्निशमन की गाड़ियां भी पहुंच गई। आग की भयावहता को देख क्षेत्र में भगदड़ सरीखा माहौल रहा। पटाखे के विस्फोट के कारण दो मंजिला भवन की छत टूटने से कुछ लोग मलबे में भी दब गए। अब तक मिठाई लाल समेत सात अज्ञात की मौत की पुष्टि अस्पताल प्रशासन कर रहा है।

हालांकि नाम पोस्टमार्टम के बाद ही स्पष्ट होने की संभावना है। वहीं घटना में आग से झुलसे एक दर्जन से अधिक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आठ को रेफर कर दिया गया है। मरने वालों की संख्या और बढ़ने की बात कही जा रही है। जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी ने कहा कि घटना की जांच कराई जाएगी।