मथुरा। गावो-गावो री बधाई, राजा वृषभानु के घर आज जन्मेंगी कीरत दुलारी। ब्रजभूमि की अधिष्ठात्री और श्रीकृष्ण की शक्ति किशोरीजू का जन्म सोमवार को ब्रह्म मुहूर्त में चार बजे उनके निज महल में होगा।

लाडिली के जन्मोत्सव का साक्षी होने के लिए देश-विदेश के श्रद्धालु बरसाना पहुंच गए हैं। रविवार की देर शाम तक पद गायन से बरसाना का कण-कण उत्सव में सराबोर रहा।

वृषभानु नंदनी भादों महीने के शुक्ल पक्ष की अष्टमी को अनुराधा नक्षत्र तथा मूल नक्षत्र में जन्म लेंगी। सेवायत मधुमंगल गोस्वामी व राहुल गोस्वामी के अनुसार, रात्रि दो बजे गर्भ गृह में राधारानी के मूल शांति के लिए 27 कुओं का जल, 27 पेड़ों की पत्ती, 27 तरह की औषधि, 27 मेवा, सोने चांदी की मूल-मूलनी के साथ 27 ब्राह्ममण हवन आदि वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ वृषभानु नंदनी का मूल शांत कराएंगे।

सुबह चार बजे से दूध, दही, शहद, बूरा, इत्र, घी, गुलाबजल, यमुना जल, गोघृत, पंच मेवा, पंच नवरत्न, केसर आदि से उनके श्रीविग्रह का अभिषेक कराया जाएगा। अभिषेक करीब डेढ़ घंटे तक चलेगा।

सुबह नौ बजे बरसाना और नंदगांव के गोस्वामी समाज द्वारा समाज गायन होगा। शाम 5ः30 बजे डोला में राधारानी मंदिर प्रांगण में बनी सफेद छतरी में विराज भक्तों को दर्शन देंगी।

पीतांबर पोशाक धारण करेंगी किशोरीजू श्रीराधारानी को जन्मोत्सव पर पीले रंग की पोशाक धारण कराई जाएगी। इसमें मोर पंख का जड़ाव है। किनारी पर गुलाबी और नीले रंग का बॉर्डर है।

पूरी पोशाक पर पीले रंग की पुष्प आकृतियां बनी हैं। सेवायत राहुल गोस्वामी ने बताया कि यह पोशाक प्रयाग से एक भक्त ने भेजी है।