नई दिल्ली। घड़ी और गहने बनाने वाली टाइटन दुनिया में चौथी सबसे तेज विस्तार कर रही लग्जरी कंपनी बन गई है। बुधवार को जारी डेलॉयट की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 2014-15 से लेकर 2016-17 के बीच कंपनी का विकास हर साल औसतन 19.7 फीसदी हुआ।

टाटा समूह और सरकारी कंपनी तमिलनाडु इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (टिडको) की साझेदारी वाली कंपनी टाइटन को टॉप 100 ग्लोबल लग्जरी कंपनियों की लिस्ट में 27वीं रैंक मिली है। डेलॉयट की तरफ से तैयार की गई लिस्ट के टॉप 100 में भारत की चार और कंपनियों को जगह दी गई है।

कल्याण ज्वेलर्स को 35वीं, पीसी ज्वेलर को 40वीं, जोयालुक्कास इंडिया को 47वीं और त्रिभुवनदास भीमजी झावेरी को 87वीं रैंक मिली है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2016-17 में टाइटन कंपनी की बिक्री 23.6 फीसदी बढ़ी। नए स्टोर, नए ब्रांड की लांचिंग, ऑनलाइन बिक्री का बेहतर परफॉर्मेंस जैसे कारणों से कंपनी की रिटेल बिक्री में जबरदस्त बढ़ोतरी हुई है।

लग्जरी की बिक्री जोरदार

टॉप 100 लग्जरी कंपनियों को साल 2016-17 के दौरान कुल 247 अरब डॉलर (17.15 लाख करोड़ रुपए) की आय हुई। 76 फीसदी कंपनियों ने लग्जरी चीजों की बिक्री में बढ़ोतरी दर्ज की। इनमें से करीब आधी कंपनियों की बिक्री दहाई अंकों में बढ़ी।

भारत की बात खास

डेलॉयट इंडिया के पार्टनर अनिल तलरेजा ने कहा कि महानगरों के अलावा अन्य शहरों में भी तेजी से बाजार बढ़ने के कारण भारत में लग्जरी आइटम्स की बिक्री तेजी से बढ़ रही है।

इसमें एक ऐसे ग्राहक वर्ग के उभरने की बड़ी भूमिका रही, जो अभी अमीरों में शामिल तो नहीं हुए हैं, लेकिन जिनकी कमाई काफी अधिक है।