संभल। अपने कारनामों की वजह से चर्चा में रहने वाली उत्तर प्रदेश पुलिस का एक वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। यह कारनामा पुलिस की 'सच्ची जांबाजी' को दिखाता है। इस वीडियो को देखकर और उसके बाद अपराधी की गिरफ्तारी की कहानी सुनकर या तो आप बहुत हंसेंगे या अपना सिर पीट लेंगे।

वैसे बताते चलें कि अलीगढ़ में मीडिया को आमंत्रण देकर एनकाउंटर के टेलीकास्ट कराने के मामले में किरकिरी का सामना करना पड़ा था। हालिया मामले में पुलिस को शुक्रवार शाम पुलिस को पता चला कि संभल के जंगल में कुछ बदमाश छिपे हैं। पुलिस ने बदमाशों की घेराबंदी कर पिस्टल चलाई, लेकिन उससे गोली नहीं चली। मगर, यूपी पुलिस तो दिव्य शक्तियां रखती है। लिहाजा मुंह से ही ठांय-ठांय की अवाज निकाली और बदमाश घायल हो गया। यह घटना शुक्रवार देर रात की है।

मजेदार बात यह है कि पिस्टल से गोली नहीं चलाने के बाद भी पुलिस ने 25 हजार का इनामी बदमाश को घायल हालत में गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, मुठभेड़ में बदमाश की तरफ से गोली लगने से इंस्पेक्टर और सिपाही जरूर घायल हो गए हैं। उधर, एएसपी पंकज कुमार पाडेय ने बताया कि पिस्टल से फायर हुआ था। पिस्टल से फायर न होने की बात गलत हैं।

इसके बाद घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि बदमाश का दूसरा साथी अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में फरार हो गया। पुलिस अब इनामी बदमाश से पूछताछ कर रही है। वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि एक सब इंस्पेक्टर ठांय-ठांय की आवाज निकालकर बदमाशों को डराने की कोशिश कर रहे हैं।

फिर वही सदियों पुरानी कहानी

पुलिस ने फिर अपनी सदियों पुरानी कहानी को दोहराया और बताया शुक्रवार देर रात वाहनों की चेकिंग की जा रही थी। इसी बीच गाड़ी पर सवार लोगों को रोकने की कोशिश की गई। इस दौरान वह लोग पुलिस को देखकर बैरियर तोड़ते हुए भागने लगे। पुलिस ने घेराबंदी की तो पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी।

पुलिस की जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश को गोली लगी, जिसकी पहचान 25 हजार के इनामी बदमाश रुखसार के रूप में हुई है। इस दौरान मुदित शर्मा भागने में सफल रहा। इस गिरफ्तार बदमाश के पास से लूट की स्कार्पियो सहित 315 बोर तमंचा और पांच जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं। बदमाश रुखसार पर एक दर्जन से अधिक संगीन मामलों के केस दर्ज है।

ट्रोल हो रही है यूपी पुलिस

इस एनकाउंटर में गोली नहीं चल पाने पर मुंह से ठांय-ठांय की आवाज निकालकर बदमाश को ललकारने पर संभल पुलिस ट्रोल हो रही है। मगर, यह भी ध्यान रखिएगा कि पुलिस की गोली लगने से रुखसार घायल हो गया है।सोशल मीडिया में यूजर्स ने कई कमेंट किए हैं। एक यूजर ने लिखा कि गनीमत रही कि दारोगा के सामने बदमाश नहीं पड़ा, नहीं तो कोई बड़ी घटना हो जाती।

भले ही मुठभेड़ के दौरान दारोगा की पिस्टल न चली हो, लेकिन वीडियो में साफ दिख रहा है कि दारोगा फायर भी सही तरह से नहीं कर पा रहा था। दारोगा अधिकारियों के डर से बदमाश को पकडऩे के लिए आगे तो बढ़ रहा था। लेकिन, उसका पूरा शरीर कांप रहा था। दारोगा फायर करने के लिए हाथ ऊपर उठाता था और मुंह नीचे कर लेता था।