नई दिल्ली। बेमौसम बारिश, आंधी और तूफान से देश के 8 राज्यों में तबाही मची है। सबसे ज्यादा नुकसान मध्यप्रदेश, राजस्थान और गुजरात में हुआ है। मध्यप्रदेश मे जहां अलग-अलग हादसों में दो दिन में 16 लोगों की मौत हुई है, वहीं राजस्थान में छह और गुजरात में चार लोगों ने जान गंवाई हैं। देशभर में मृतकों का आंकड़ा 35 बताया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक, वेस्टर्न डिस्टर्बन के कारण मौसम बदला है। अगले दो दिन और इसका असर रह सकता है। कई स्‍थानों पर ओले भी गिरे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मृतकों के परिजन को 2-2 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार की आर्थिक सहायता की पेशकश की है। इस मामले में पीएम के ट्वीट को लेकर विवाद की स्थिति भी बनी।

दरअसल, पीएम ने पहले गुजरात में मारे गए लोगों के प्रति दुख व्यक्त किया और प्रधानमंत्री राहत कोष से 2-2 लाख रुपए और घायलों 50-50 हजार रुपए की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। इस पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आपत्ति ली। कमलनाथ ने ट्वीट किया कि मोदी सिर्फ गुजरात की चिंता करते हैं, क्या मध्यप्रदेश और अन्य राज्यों के लोग उनके लिए मायने नहीं रखते हैं। वहीं भाजपा का कहना है कि मुश्किल भरे इस समय में कांग्रेस राजनीति कर रही है। बाद में पीएम और उनके ऑफिस की ओर से अन्य राज्यों के मृतकों के लिए भी ऐसी ही आर्थिक सहायता की घोषणा की गई।

मध्यप्रदेश में आंधी और ओलों का कोहराम

मध्य प्रदेश में बीते दो दिनों से मौसम बदला हुआ है। आंधी-तूफान के कारण हुए हादसों से अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है। बिजली गिरने से ही 13 की मौत हुई है। जबकि सीहोर जिले के आष्टा में चलती बाइक पर पेड़ गिरने से एक ने दम तोड़ दिया। इंदौर जिले के हातोद में एक ही परिवार के तीन लोगों की मृत्यु आकाशीय बिजली से हुई। जगह-जगह बारिश और ओलों से खेतों में खड़ी और काट कर रखी फसलों के अलावा मंडियों में खुले में रखा सैकड़ों क्विंटल गेहूं और लहसुन भीगने की खबर है। आंधी से कई जिलों में मकानों की चद्दर और दुकानों के बोर्ड भी उड़ गए।

प्रदेश सरकार ने दिए 4-4 लाख रुपए

इस बीच, मध्यप्रदेश में सरकार के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बेमौसम बारिश व तूफान के कारण आकाशीय बिजली गिरने से हुई जनहानि पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देश पर राज्य शासन द्वारा सभी मृतकों के परिवारों के लिये 4 लाख रुपये की सहायता राशि तत्काल मंजूर की गई है।

गुजरात में मंगलवार शाम बिगड़ा था मौसम

गुजरात में मंगलवार शाम से मौसम बिगड़ गया था। कई जिलों में धूल भरी आंधी के बाद बारिश हुई थी। इस दौरान सौराष्ट्र और उत्तर गुजरात में बिजली गिरने से 4 लोगों की मौत हो गई। राजकोट, गांधीनगर, अहमदाबाद, वड़ोदरा में आंधी के कारण कई पेड़ गिर गए थे।

राजस्थान में 6 लोगों ने गंवाई जान

बिगड़े मौसम का असर राजस्थान में भी नजर आया। यहां मंगलवार को आंधी-तूफान और अचानक होने वाली बारिश ने रौद्र रूप दिखाया। अलग-अलग हादसों में यहां 6 लोगों की जान चली गई।