इंदौर में तेंदुए का हमला, देखिए रोंगटे खड़े कर देने वाली तस्वीरें

hiten j   |  Fri, 09 Mar 2018 01:16 PM (IST)

इंदौर के पल्हर नगर में शुक्रवार को एक तेंदुए का आतंक रहा। आबादी वाले क्षेत्र में तेंदुए के घुसने से पूरे इलाके में अफरातफरी मच गई। वन विभाग के मुताबिक तेंदुआ करीब 3 साल का है। रेस्क्यू के दौरान तेंदुए ने 4 लोगों पर हमला किया। छाया : प्रफुल्ल चौरसिया आशु

पल्हर नगर में तेंदुआ एक निर्माणाधीन मकान में घुसा। घर के आसपास जाली लगाकर उसे पकड़ने की कोशिश की गई।

मकान के बरामदे में बैठे तेंदुए ने बाहर निकलने के लिए जाली पर कूद लगा दी तो बाहर खड़े रेस्क्यू दल के प्रभारी आर.सी. चौबे जान बचाकर भागे।

तेंदुआ वयस्क था लिहाजा वन विभाग का अधिकारी उसकी पहुंच में थे क्योंकि एक्सपर्ट बताते हैं कि वयस्क तेंदुआ 12 से 15 फीट तक कूद लगा सकता है।

तेंदुए ने पलक झपकते ही इस वन अधिकारी को अपनी जद में ले लिया। घबराहट में अधिकारी के हाथ से डंडा तक छूट गया।

तेंदुए का जबड़ा अधिकारी आर.सी. चौबे की कमर पर था और उसने दोनों पैरों से उन्हें दबोच लिया। इसके अलावा तेंदुए ने वन विभाग एसडीए आर.एन. सक्सेना पर भी हमला किया।

एक पल के लिए अधिकारी तेंदुए की पकड़ से छूटे भी लेकिन तेंदुए ने फिर अपनी पकड़ मजबूत बना ली।

तेंदुए का हमला इतनी तेज और मजबूती से हुआ कि अधिकारी पलटकर भागने में फिर गिर पड़े। इस दौरान तेंदुआ भी घबराया हुआ नजर आया क्योंकि तेंदुआ चारों तरफ से रेस्क्यू टीम से घिरा हुआ था।

पल्हर नगर में घुसने के दौरान तेंदुआ एक रहवासी पर हमला कर उसे घायल कर चुका था। तेंदुए ने इस व्यक्ति को भी कमर पर ही हमला किया। इस व्यक्ति को तेंदुए के दांत और नाखूनों से गंभीर चोट लगी।

तेंदुआ जब निर्माणाधीन मकान के अंदर बैठा हुआ था तब बाहर इंदौर जू के प्रभारी डॉ. उत्तम यादव अपनी टीम और वन विभाग के अमले के साथ उसे पकड़ने की कवायद करते नजर आए।

बेहद सघन रहवासी इलाके में तेंदुआ घुसने के कारण अफरा तफरी मची रही। लोगों को विश्वास नहीं हो रहा था कि इतनी घनी आबादी वाले इलाके में तेंदुआ कैसे घुस सकता है। पूरे समय इलाके में लोग जमा रहे।

इलाके में अफरातफरी के माहौल के बीच सुरक्षा के लिए एरोड्रम थाने का बल भी तैनात किया गया था।

तेंदुए को पकड़ने के लिए जब तक रेस्क्यू ऑपरेशन चला तक अफरातफरी का माहौल रहा।

करीब 3 घंटे तक चली कवायद के बाद तेंदुए को पकड़ लिया गया। उसे ट्रेंक्यूलाइज करने के लिए वन विभाग ने 6 शॉट मारे गए।

वन विभाग के एसडीओ पर भी तेंदुए ने हमला कर दिया था।