रंगपंचमी पर रंगों की मस्ती में डूबा इंदौर

hiten j   |  Tue, 06 Mar 2018 01:46 PM (IST)

रंगपंचमी के अवसर इंदौर शहर के मध्य क्षेत्र राजवाड़ा में पारंपरिक गेर निकाली गईं।

गेर में उड़ते रंगों में शहरवासी जमकर झूमे।

गेर में मिसाइल से जमकर रंग उड़ाया गया जिससे वहां मौजूद हर शख्स इस मस्ती में रंग गया।

संगम कॉर्नर की सद्भावना रंगारंग गेर 62 साल की परंपरानुसार कैलाश मार्ग से आई। इसमें वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर से लाई गई 21 फीट ऊंची धर्म ध्वजा ने सबको आकर्षित किया।

टोरी कॉर्नर रंगपंचमी उत्सव समिति द्वारा 70 वर्ष की परंपरानुसार टोरी कॉर्नर से गेर निकाली। इसमें तीन मिसाइलों से रंग-गुलाल उड़ाया गया।

रसिया कॉर्नर नवयुवक मंडल द्वारा 44वीं गेर रसिया कॉर्नर राजमोहल्ला से निकाली गई। इसमें 200 युवक केसरिया हेलमेट पहनकर यातायात के नियमों के पालन का संदेश देते नजर आए।

राजवाड़ा चौक की तरफ आने वाले मार्गों पर ट्रैफिक प्रतिबंधित कर दिया गया। गेर के मद्देनजर प्रशासन ने विशेष सुरक्षा के इंतजाम किए हैं।

छह किलोमीटर लंबे गेर के रूट पर एक हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात हैं। पांच ड्रोन कैमरों से भी निगरानी की जा रही है। इसके साथ ही शहर के अन्य इलाकों से भी फाग यात्राएं निकल रही हैं।

गेर में युवाओं और बच्चों ने जमकर रंगों का आनंद लिया।

राजवाड़ा में निकल रही गेर में ध्वज यात्रा भी निकाली गई।

ध्वज यात्रा में भी जमकर रंग उड़ाया गया।

पानी के टैंकर में भरकर लोगों पर रंगों की बौछार हुई।

इंदौर के मध्य क्षेत्र राजवाड़ा की हर गली रंग से सराबोर हो गई।

रंगपंचमी पर निकली गेर का अलग-अलग जगहों पर जमकर स्वागत हुआ।

कभी पीला, कभी केशरिया, तो कभी गुलाबी ऐसा कोई रंग नहीं था जो गेर में शामिल न हो।

राजवाड़ा पर जुड़ी भीड़ को देखकर शहरवासियों का उत्साह साफ नजर आाया।

सालभर में एक बार होने वाले गेर के आयोजन में दूर-दूर से शामिल होने के लिए लोग यहां आते हैं।