देश के 10 ऐतिहासिक स्थल, जहां हर भारतीय को जरूर जाना चाहिए

hiten j   |  Thu, 29 Mar 2018 05:57 PM (IST)

कहा जाता है कि किसी भी देश की समृद्धता का अंदाजा वहां की ऐतिहासिक स्थलों को देखकर लगाया जा सकता है। संयोग से भारत अपनी समृद्ध ऐतिहासिक विरासतों के मामले में दुनिया में शीर्ष पर विराजमान है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही ऐतिहासिक स्थलों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां प्रत्येक भारतीय तो जरूर जाना चाहिए।

हम्पी- मध्यकालीन हिंदू राज्य विजयनगर की राजधानी हम्पी तुंगभद्रा नदी के किनारे बसा हुआ है। हालांकि अब यह नगर केवल खंडहरों के रूप में ही दिखता है फिर भी इसकी समृद्धता को देखने दूर दूर से पर्यटक आते हैं। कर्नाटक राज्य में स्थित यह नगर यूनेस्को के विश्व के विरासत स्थलों में शामिल है।

खजुराहो के मंदिर- मध्य प्रदेश के छतरपुर में स्थित इन मंदिरों का निर्माण चंदेल राजाओं ने किया था। खजुराहो के मंदिरों का निर्माण 950 ईसवीं से 1050 ईसवीं के बीच हुआ था। इस स्थान को युनेस्को ने 1986 में विश्व विरासत की सूची में शामिल भी किया है।

हुमायूं का मकबरा- मुगल सम्राट अकबर से पिता हुमायूं का मकबरा दिल्ली के निजामुद्दीन में बनाया गया है। यह मकबरा हुमायूं की विधवा बेगम हमीदा बानो बेगम के आदेशानुसार 1562 में बना था।

लोटस टेंपल- दिल्ली के नेहरू प्लेस के पास स्थित एक बहाई उपासना स्थल है। इस अनूठे मंदिर में न कोई मूर्ति है और न ही किसी प्रकार का कोई धार्मिक कर्म-कांड किया जाता है। लेकिन, इस मंदिर को आर्किटेक्ट के लिए कई पुरस्कार दिए जा चुके हैं। इस 1987 में आम जनता के लिए खोला गया था।

चारमीनार- तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में स्थित इस ऐतिहासिक स्मारक का निर्माण 1591 में सुल्तान मुहम्मद कुली कुतुब शाह ने किया था। भीड़भाड़ भरे इलाके में स्थित होने के बावजूद यह पर्यटकों के आकर्षण का बड़ा केन्द्र है।

स्वर्ण मंदिर- पंजाब के अमृतसर में स्थित इस मंदिर को सिख धर्म के बड़े स्थल को रूप में जाना जाता है। इसे हरमिंदर साहिब, दरबार साहिब या स्वर्ण मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। लगभग 400 साल पुराने इस गुरुद्वारे का नक्शा खुद गुरु अर्जुन देव जी ने तैयार किया था।

ताज महल- मुगल सम्राट शाहजहां द्वारा उत्तर प्रदेश के आगरा में बनाई गई यह खूबसूरत इमारत दुनिया के सात अजूबों में शामिल है। शाहजहां ने इसे अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनाया था। इसे देखने देश-विदेश से लाखों की संख्या में सैलानी आते हैं।

लाल किला- मुगल सम्राट शाहजहां द्वारा दिल्ली में बनवाया गया लाल किला न केवल बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करता है बल्कि देश के ऐतिहासिक विरासत में भी है जहां स्वतंत्रता दिवस पर देश के प्रधानमंत्री द्वारा ध्वजारोहण भी किया जाता है।

मैसूर पैलेस- कर्नाटक में स्थित इस महल में मैसूर का शाही परिवार रहा करता है। आज भी इस महल की खूबसूरती देखने दूर-दूर से पर्यटक आते हैं। यह महल एक बड़े से गार्डन के बीच में स्थित है। यहां का दशहरा विश्व प्रसिद्ध है।

हवा महल- राजस्थान के जयपुर में स्थित इस महल को वर्ष 1798 में महाराजा सवाई प्रताप सिंह ने बनवाया था। इस पांच-मंजिला इमारत जो ऊपर से तो केवल डेढ़ फुट चौड़ी है लेकिन बाहर से देखने पर मधुमक्खी के छत्ते के समान दिखाई देती है। इसमें ९५३ बेहद खूबसूरत और आकर्षक छोटी-छोटी जालीदार झरोखे हैं।