चूरू। रविवार 12 मई को चूरू जिले के बीदासर कस्बे में एक महिला निर्वस्त्र हालत में पुलिस थाने पहुंची और अपने ससुराल पक्ष के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था सड़क पर जाते हुए जब इस हालत में महिला थाने की ओर जाते हुए दिखी तो पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए उस पर चद्दर लपेटा और थाने लेकर पहुंची। ससुराल पक्ष पर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया। रविवार सुबह की इस घटना के बाद पुलिस को डर था कि महिला के फोटो और वीडियो वायरल न हो जाएं।

महिला जहां-जहां से गुजरी थी, वहां लगे सीसीटीवी फुटेज पुलिस ने डिलीट करवा दिए गए। स्थानीय लोगों से भी वीडियो या फोटो डिलीट करने के लिए कहा था लेकिन एक युवक ने अपने मोबाइल से रिकॉर्डिंग नहीं डिलीट नहीं की और उसने व्हाट्सऐप पर शेयर कर दी थी। इस शख्स का नाम भवानीशंकर था जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

बीदासर पुलिस स्टेशन के एसएचओ राजीराम ने कहा कि महिला की ओर से दर्ज मामले में ससुराल पक्ष के चार लोगों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया गया है। सभी को जेल भेज दिया गया है। वीडियो वायरल करने वाले आरोपी पर आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।

महिला की शिकायत के बाद पुलिस ने 12 मई को ही उसके ससुराल पक्ष के लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया था। महिला की सास विमला, जेठानी सुनीता, जेठ सम्पत और देवर छोटू को प्रताड़ना के आरोप गिरफ्तार कर लिया गया। चारों को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

यह घटना हुई तब महिला पति घर पर नहीं था। महिला ने घरेलू हिंसा की शिकायत की। यह महिला अपने सुसरालवालों से परेशान थी। पति असम में नौकरी करता है। यह खुद अकोला महाराष्ट्र की रहने वाली है। थाने पहुंचने के बाद महिला ने पुलिस को बताया कि रविवार को उसका सुसराल वालों से झगड़ा हो गया तो उन्होंने उसके कपडेे फाड़ दिए। ऐसे में वह निर्वस्त्र हालत में ही थाने में शिकायत के लिए चल पड़ी। उसके घर से थाना करीब तीन किलोमीटर दूर है।