जयपुर (कोटपुतली)। राजस्‍थान के जयपुर के कोटपुतली में डाक्‍टर आरपी यादव निस्‍वार्थ भाव से सेवा करने की एक आदर्श मिसाल हैं।

बारिश में भीगकर पैदल कॉलेज आने वाली छात्राओं की तकलीफ को समझते हुए उन्‍होंने अपना पीएफ तोड़ा और 19 लाख रुपए जुटाकर छात्राओं के लिए एक कॉलेज बस का इंतजाम किया।

कुछ दिनों पहले यादव और उनकी पत्‍नी ने तेज बारिश में छात्राओं को आते देखा। दोनों ने छात्राओं को लिफ्ट दी और बातचीत की। उन्‍हें पता चला कि परिवहन सेवा के अभाव में छात्राओं को पैदल ही आना पड़ता है।

दंपती को छात्राओं की इसलिए भी चिंता हुई क्‍योंकि उनके साथ छेड़छाड़ की घटना भी संभव थी।

लोग अपने बुढ़ापे के लिए पीएफ का पैसा बचाकर रखते हैं, ऐसे में इस व्‍यक्ति ने ऐसी परेशानी के हल के लिए पैसा निकाला जो उनकी खुद की नहीं थी।

उन्‍होंने एक बस बुक कराई लेकिन उसकी डिलेवरी शिक्षा सत्र शुरू होने के 19 दिन देरी से हुई। कॉलेज खुलने पर रामनगर व भोपालपुरा से 40 छात्राओं ने इस बस में निशुल्‍क यात्रा शुरू की।

पहले आने वाली पांच लड़कियों से डॉक्‍टर ने बस की पूजा करवाई। कई लोगों ने डॉक्‍टर को बताया कि परिवहन के अभाव के चलते वे अपनी बेटियों को कॉलेज नहीं भेज पा रहे थे।

असल में डॉक्‍टर यादव ने बीस साल पहले एक हादसे में अपनी बेटी को खो दिया था।

वे बताते हैं कि यदि बेटी अभी जीवित होती तो ये पैसा उसकी पढ़ाई व शादी में लग जाता। वे कई सामाजिक गतिविधियों में शामिल रहकर समाजसेवा का काम करते आ रहे हैं।