जयपुर। राजस्थान सहित चार राज्यों के करीब पांच हजार निवेशकों से सौ करोड़ रुपये की ठगी करने वाला एक शातिर आखिर पुलिस की गिरफ्त में आ गया। यह ठग कभी साधु तो कभी सपेरा बनकर फरारी काट रहा था।

राजस्थान के सिरोही जिले के पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी विक्रम सिंह राजपुरोहित है। वह श्रीखेतेश्वर अरबन क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड सिरोही का अध्यक्ष है। उसे जोधपुर से पकड़ा गया।

विक्रम ने 2003 में खेतेश्वर आदर्श सोसाइटी खोली थी। इस सोसाइटी की गुजरात में 22, दमन, दादर व नगर हवेली में अनेक व महाराष्ट्र में पांच शाखाएं खोली गईं जिसमें सोसाइटी की विभिन्न योजनाओं में मोटा मुनाफा देने का लालच देकर करोड़ों रुपये निवेश करवा लिए।

पुलिस का दावा है कि सिर्फ सिरोही जिले में करीब 40 करोड़ रुपये और राजस्थान व अन्य राज्य गुजरात, महाराष्ट्र, दादर व नगर हवेली, दमन द्वीव में हजारों लोगों के करोड़ों रुपये धोखाधड़ी कर हड़प लिए। फिर सोसाइटी की विभिन्न राज्यों में करीब 45 शाखाओं को बंद कर फरार हो गया। इसके साथ इसके कुछ साथी भी थे जो अभी फरार चल रहे हैं। पिछले एक वर्ष से ज्यादा वक्त से पुलिस इसकी तलाश में जुटी थी।

एसपी ओमप्रकाश ने बताया कि आरोपी विक्रम सिंह इतना शातिर है कि फरार होने के बाद वह अहमदाबाद, गोवा, नेपाल, हरियाणा, बिहार इत्यादि अलग-अलग स्थानों पर साधु के वेश में रहता था तो कभी-कभी वह सपेरा भी बन जाता था।

एक सिम ने पुलिस को दिलाई सफलता-

आरोपी जोधपुर में महामंदिर इलाके में किराए के मकान में रहता था और अपने भतीजे के संपर्क में था। इस दौरान पुलिस ने इसे दबोच लिया। वह अपने सिम और मोबाइल बदलता रहता था। उसके मोबाइल से किए गए मिस्ड कॉल ने उसकी सारी योजना चौपट कर दी।

पुलिस ने नंबर के आधार पर लोकेशन का पता लगाया और उसे दबोच लिया। पुलिस ने उस पर पांच हजार का इनाम भी घोषित किया हुआ था। उसका बड़ा भाई शैतान सिंह भी शातिर अपराधी है।