जयपुर। राजस्थान में आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर समुदाय का आंदोलन जारी है और इसका खामियाजा रेल यात्रियों को भी भुगतना पड़ रहा है। आंदोलन की वजह से बड़ी संख्या में आंदोलनकारी पटरियों पर धरना दे रहे हैं। आंदोलन की अगुवाई कर रहे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने साफ कहा है जब तक उन्हें 5 फीसदी आरक्षण नहीं मिल जाता, गुर्जर पटरियों पर बैठे रहेंगे।

अब राजस्थान के मंत्री भंवर लाल ने गुर्जर समुदाय को कहा है कि वे इस संबंध में पीएम मोदी से बात करें, उन पर दबाव डाले। उन्होंने गुर्जर समुदाय से अपील करते हुए कहा कि समुदाय प्रधानमंत्री पर 5 प्रतिशत आरक्षण देने का दबाव डालें कि जिस तरह से उन्होंने जनरल कैटेगरी को 10 प्रतिशत आरक्षण दिया, वे गुर्जर समुदाय को कम से कम 5 प्रतिशत आरक्षण दें।

उन्होंने आगे कहा कि हमारी सरकार 45 दिन पुरानी है, हम मना नहीं कह रहे हैं। लेकिन अगर वे सड़कों को अवरुद्ध करेंगे तो सरकार भी अपना काम करेगी। उन्होंने शांति की अपील करते हुए कहा कि आंदोलन की अगुवाई कर रहे बैंसला अपनी टीम भेजें ताकि इस बारे में बात कर पाएं।

गौरतलब है गुर्जर आरक्षण आंदोलन के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने आठ फरवरी से आंदोलन का ऐलान किया था। सवाई माधोपुर जिले के मलारना गांव में पंचायत करने के बाद बैंसला ने समाज के लोगों को लेकर मलारना डूंगर और निमोदा रेलवे स्टेशनों के बीच पटरी पर कब्जा जमा लिया। सर्दी से बचने को ट्रेक पर जगह-जगह अलाव जला रखे हैं तो मकसूदनपुरा में पटरियों पर तंबू लगा दिए हैं।

उत्तर रेलवे ने 10 फरवरी को चलने वाली 18 ट्रेनों को, 11 फरवरी को चलने वाली 10 ट्रेनों को, 12 फरवरी को चलने वाली 12 ट्रेनों को और 13 फरवरी को चलने वाली 15 ट्रेनों को कैंसिल किया गया है।