जयपुर। राजस्थान में बूंदी जिले के हरिपुरा गांव में पांच साल की मासूम बच्ची का समाज से बहिष्कार किए जाने के मामले में पुलिस ने आरोपित पंचों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। गौरतलब है कि अनजाने में टिटहरी के अंडे फूट जाने पर पंचों ने बच्ची को 11 दिन का सामाजिक बहिष्कार करने का ऐलान किया था।

इस मामले में हिडौली पुलिस थाने में मामला दर्ज कर किया गया है। पुलिस के अनुसार बच्ची के पिता की रिपोर्ट पर कुल पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

बदला लेने के लिए बहिष्कार का बात भी आई सामने-

उधर, मामला सामने आने के बाद राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी गुरुवार को हरिपुरा गांव पहुंचीं। मनन ने गांव में बच्ची के घर पहुंचकर उसके पिता और अन्य ग्रामीणों से मामले की जानकारी ली । इस दौरान पता चला कि बच्ची के पिता ने किसी से 15 सौ रुपये उधार लिए थे, जो वह लौटा नहीं पाया था। इसका बदला लेने के लिए पंच-पटेलों ने ऐसा किया।

पिता ने मनन को बताया कि उसने गांव के ही एक पंच के रिश्तेदार से रुपये उधार लिए थे, वापसी में देरी हो रही थी। इसी बीच बच्ची से टिटहरी का अंडा फूट गया और पंचों ने उसको बहिष्कृत करने का फैसला कर दिया।