जयपुर। राजस्थान में कांग्रेस के एक नेता ने अपनी बेटी के विवाह के निमंत्रण-पत्र पर गणेश जी अथवा किसी देवी-देवता के बजाय कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के फोटो छपवाए हैं।

यही वजह है कि कांग्रेस नेता द्वारा बांटे जा रहे ये निमंत्रण-पत्र इन दिनों चर्चा का विषय बने हुए हैं। प्रदेश में कांग्रेस के अनुसूचित जाति विभाग के जयपुर संभाग समन्वयक राजेंद्र बैरवा की बेटी का 29 जनवरी को विवाह है । विवाह का निमंत्रण-पत्र कई मायनों में खास है। इसके कवर पर गणेशजी की जगह कांग्रेस नेताओं के अतिरिक्त डॉ. भीमराव अंबेडकर, संत कबीर, ज्योतिबा फुले, संत रविदास के फोटो भी हैं।

यह भी छपवाया

राजेंद्र बैरवा का कहना है कि मैं आस्तिक हूं, लेकिन मेरे लिए धर्म से पहले देश का संविधान है। इसीलिए मैंने सबसे पहले बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर और फिर अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और अन्य नेताओं के फोटो छपवाए हैं। प्रदेश में खुशहाली का मैसेज देने लिए मैंने ऐसा किया है।

निमंत्रण-पत्र पर गणेश वंदना की जगह बौद्ध धर्म का सूत्र वाक्य 'बुद्धम शरणम गच्छामि' छपवाया गया है । उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ समय से दलित वर्ग के विवाह समारोह के निमंत्रण पत्रों में भीमराव आंबेडकर के फोटो प्रकाशित करने का चलन बढ़ा है, लेकिन कांग्रेस नेताओं के फोटो शादी के कार्ड में छपवाने का यह मामला अनोखा है।