जयपुर। छत्तीसगढ़ के सुकमा में शहीद हुए नौ जवानों में अलवर के लक्ष्मण सिंह भी है। दो माह पहले ही उनके पिता की मौत हुई थी। अब वे खुद दो छोटे बच्चों को छोड़कर शहीद हो गए।

सीआरपीएफ जवान लक्ष्मण सिंह अलवर के सुंदरवाड़ी गांव के रहने वाले थे। उन्होंने 2000 में सीआरपीएफ ज्वॉइन किया था। अभी उनकी पोस्टिंग छत्तीसगढ़ के सुकमा में थी। शहीद लक्ष्मण के पिता की अभी दो महीने पहले ही मृत्यु हुई थी।

लक्ष्मणसिंह का एक बेटा और एक बेटी भी है। वे इस रविवार को ही ड्यूटी पर लौटे थे और मंगलवार को उनके शहीद होेने की खबर आ गई।

अलवर के मोतीनगर में कुछ समय पहले ही उन्होंने मकान भी बनवाया था। उनके शहीद होने की खबर के बाद पूरे गांव में शोक की लहर है।

वहीं जवानों की शहादत पर सीएम वसुंधरा राजे ने भी ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि मैं सुकमा में शहीद हुए मुंडावर, अलवर के निवासी, हेड कांस्टेबल लक्ष्मण चैधरी जी की शहादत पर शोक संवेदनाएं व्यक्त करती हूं। देश आपकी कुर्बानी को सलाम करता है और राजस्थान को आप पर गर्व है। ईश्वर से दिवंगत आत्मा को शांति एवं शोकाकुल परिवार को सम्बल प्रदान करने की प्रार्थना करती हूं।