जयपुर (ब्यूरो)। गुजरात के सूरत में तक्षशिला मार्केट में लगी आग का वह दिल दहलाने वाले हादसा अभी तक कोई भूल नहीं पाया है। ऐसा ही एक हादसा कोटा में भी हो सकता था। कोटा में तलवंडी एरिया में एक चार मंजिला हॉस्टल के निचले तल पर आग लग गई। आग देखते ही देखते पूरे हॉस्टल में फैलने लगी। उस वक्त हॉस्टल में करीब 18 बच्चे मौजूद थे। गनीमत यह रही कि कोई हताहत नहीं हुआ।

आग का कारण बिजली का पोल है, जिससे स्पार्किंग हुई और हॉस्टल संचालक के बाहर रखे भूसे ने आग पकड़ ली। इस भूसे के आग फैलती गई और घर के अंदर तक आ गई, जहां पर वाहनों और अन्य सामानों को भी चपेट में ले लिया।

बच्चों की आवाज सुनकर पड़ोसी आए और रेस्क्यू में शामिल हो गए। उन्होंने हॉस्टल की छत पर सीढ़ी लगा, जाली तोड़कर बच्चों को बाहर निकालकर नीचे उतारा। सूचना पर दमकल और जवाहर नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। करीब 5 दमकल की गाड़ियां मौके पर आई और उन्होंने 30 मिनट में आग पर काबू पाया।

गौरतलब है कि हाल ही में सूरत के सरथना इलाके में चार मंजिला कला और शिल्प कोचिंग संस्थान तक्षशिला आर्केड में लगी भीषण आग में 18 छात्राओं समेत 22 छात्रों की मौत हो गई थी।