जयपुर। राजस्थान में भाजपा सरकार ने कार्यकर्ताओं और जनता की नाराजगी दूर करने के लिए छह मंत्रियों की एक समिति (मंत्रिसमूह) बनाई है। यह समिति नियमित रूप से बैठकें कर कार्यकर्ताओं और जनता की नाराजगी दूर करने के उपायों पर काम करेगी।

मंत्रिसमूह की पहली बैठक मंगलवार को प्रदेश भाजपा मुख्यालय पर हुई। इसके बाद मीडिया से रूबरू प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने इसे चुनावी परीक्षा से पहले की तैयारी बताया। परनामी के अनुसार अब यह बैठकें निरंतर चलेंगी। संगठन में खाली पड़े पद अब जल्द भरे जाएंगे, वहीं मंत्रिमंडल बदलाव से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री का क्षेत्राधिकार है।

दरअसल राजस्थान में पार्टी अब पूरी तरह चुनावी मोड में आ चुकी है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने क्षेत्र में मंत्रियों को सक्रिय करने के लिए सोमवार को कुछ प्रमुख मंत्रियों की बैठक भी की थी। इसमें ही छह मंत्रियों की एक समिति गठित की गई। इनमें सरकार के प्रमुख विभागों से जुड़े मंत्री हैं।

ये मंत्री अपनी बैठकें भाजपा मुख्यालय में ही करेंगे। इनमें राजनीतिक स्थितियों के हिसाब से निर्णय किए जाएंगे और सरकार व संगठन की सामूहिक गतिविधियां तय की जाएंगी। इनमें मंत्रियों और पदाधिकारियों के दौरे और कार्यक्रम आदि शामिल हैं।