जयपुर। पुलिस दिवस के मौके पर राजस्थान के पुलिस महानिदेशक ओ.पी गल्होत्रा ने अधिकारियों के साथ ही पुलिस बेडे के एक स्निफर डाॅग को भी पुलिस प्रशस्ति डिस्क देकर सम्मानित किया। काइजर नाम कर बेल्जियम शेफर्ड स्निफर डाॅग राजस्थान पुलिस में सीआईडी सीबी टीम का का हिस्सा है। इसकी उम्र अभी सिर्फ ढाई वर्ष है। यह राजस्थान पुलिस के बेडे में दो वर्ष पहले आए बेल्जियम शेफर्ड स्निफर डाॅग्स की टीम में आया था।

इसकी देखरेख करने वाले पुलिसकर्मियो ने बताया कि काइजर ने पिछले दिनों जयपुर के पास मुहाना इलाके में एक महिला की हत्या का मामाल सुलझाने में बड़ी मदद की थी और इसकी पहचान से पुलिस हत्यारे का रिकॉर्ड टाइम में पकड़ पाई थी। इस इलाके में एक महिला की हत्या हो गई थी। यह महिला एक फैक्ट्री में काम करती थी। उसका शव जली हुई हालत में पड़ा मिला था और शिनाख्त नहीं हो पा रही थी।

पुलिस इस केस को बंद करने वाली थी कि आखिरी समय में काइजर की मदद ली गई। इसे महिला का शव सुंघाया गया। शव सूंघने के बाद काइजर करीब डेढ़ किलोमीटर तक पुलिसकर्मियों को ले गया। यहां एक गारमेंट फैक्ट्री थी। वह फैक्ट्री में घूमा और 200 सिलाई मशीनों के बीच एक मशीन के आगे जा कर बैठ गया। पुलिसकर्मी इसे वापस शव के पास ले गए। वहां भी वह ऐसे ही जा कर बैठा। बाद में पुलिस ने जांच की तो पता चला कि जिस मशीन के आगे जाकर काइजर बैठा था, उसका कर्मचारी हत्या वाले दिन फैक्ट्री में नहीं आया था।

पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और पूछताछ की तो इस आदमी ने राज उगल दिया। सामने आया कि मृतका उसकी दूसरी बीवी थी। दोनों के बीच काफी गर्मागर्मी हुई थी और उसने गुस्से में आकर महिला की हत्या कर दी थी।