Naidunia
    Friday, February 23, 2018

    भगवान शिव

    शुक्रेश महादेव की पूजन से बढ़ती है आयुः जोशी

    शुक्रेश महादेव की पूजन से बढ़ती है आयुः जोशी

    Fri, 23 Feb 2018 04:08 AM (IST)

    फोटो 7 हरदा। शिवपुराण कथा में उपस्थित श्रद्घालु। हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि सोकल कॉलोनी में चल रही शिवपुराण कथा का समापन गुरुवार को किया गया। कथा के अंतिम दिन यहां आए श्रद्घालुओं को कथावाचक सुशील जोशी ने भगवान शिव के द्वादश ज्योतिर्लिंगों की महिमा बताई। उन्होंने कहा कि काशी में शुक्रेश महादेव की 90 दिन तक पूजन करने से आयु बढ़ती है। उ

    शिखर दर्शन मात्र से भी भगवान खुश हो जाते हैं

    शिखर दर्शन मात्र से भी भगवान खुश हो जाते हैं

    Fri, 23 Feb 2018 03:59 AM (IST)

    सुसनेर। शिखर दर्शम, पापनाशम। अर्थात भगवान शिव कहते हैं कि तुम प्रसन्न करने के लिए जल चढ़ा दो, ज्यादा नहीं तो मेरे ऊपर चढ़ा बिल्व पत्र ही धोकर फिर से चढ़ा दो और इतना भी नहीं कर सको तो दूर से मेरे मंदिर के शिखर दर्शन कर लो तो भी मैं तुमसे प्रसन्न हो जाऊंगा।

    501 कलश से हुआ भगवा

    501 कलश से हुआ भगवा

    Thu, 22 Feb 2018 04:02 AM (IST)

    501 कलश से हुआ भगवान शिव का अभिषेक केसली। नगर के प्राचीन राजघाट परिसर में भगवान शिव का अभिषेक पूजन कर विधि विधान के साथ कर स्थापना की गई। भगवान शिव का 501कलश से अभिषेक किया गया। इसके पहले नगर में धूमधाम के साथ कलश यात्रा निकाली गई। यात्रा में भगवान शिव की झांकी सजाई गई थी। श्रद्घालु डीजे की धुन पर नाचते गाते हुए चल रहे थे। आयोजक चू

    पेड़ों की रक्षा-सुरक्षा कर उन्हें विषैला होने से बचाएं : सीसीएफ

    पेड़ों की रक्षा-सुरक्षा कर उन्हें विषैला होने से बचाएं : सीसीएफ

    Thu, 22 Feb 2018 03:47 AM (IST)

    - गीता पब्लिक स्कूल में पर्यावरण बाल मित्र कार्यक्रम के माध्यम से बताया पर्यावरण का महत्व शिवपुरी। नईदुनिया प्रतिनिधि जिस तरह से भगवान शिव ने सृष्टि को बचाने के लिए विष को अपने कंठ में धारण कर लिया था, उसी प्रकार पेड़ भी वातावरण में फैले हुए विष को अपने में धारण कर लेते हैं तो हमारा यह कर्तव्य है कि हम सब पैड़ों की रक्षा-सुरक्षा करें व जितना हो सके

    लौट रहा नरेश्वर मंदिर समूहों का पुराना वैभव, खड़े हो रहे जीर्णशीर्ण मंदिर

    लौट रहा नरेश्वर मंदिर समूहों का पुराना वैभव, खड़े हो रहे जीर्णशीर्ण मंदिर

    Wed, 21 Feb 2018 03:44 AM (IST)

    ुरैना। ग्वालियर और मुरैना की सीमा पर स्थित दुर्गम पहाड़ियों के बीच बसा भगवान शिव का जल संसार कहे जाने वाले नरेश्वर शिव मंदिर समूह अपने पुराने स्वरूप में लौट रहा है। अब तक

    फेसबुक में शिवलिंग का आपत्तिजनक पोस्ट से आक्रोशित हुआ सर्वसमाज

    फेसबुक में शिवलिंग का आपत्तिजनक पोस्ट से आक्रोशित हुआ सर्वसमाज

    Tue, 20 Feb 2018 03:44 AM (IST)

    सामाजिक सुरक्षा समिति ने कराया कटंगी नगर बंद, भगवान शिव के जयकारों के साथ निकाली रैली 19बीजीटी-30-कटंगी। बडकेश्वर मंदिर के पास बैठे लोग। 19बीजीटी-31-कटंगी। नगर की दुकानें बंद। 19बीजीटी-32-कटंगी। चौक-चौराहों में तैनात पुलिस बल। 19बीजीटी-33-कटंगी। थाना में लगी भीड़। कटंगी। नईदुनिया न्यूज सोशल मीडिया फेसबुक पर उमरी के एक युव

    भीष्म पितामह ने भी भुगता था पूर्व जन्म के कर्मों का फल

    भीष्म पितामह ने भी भुगता था पूर्व जन्म के कर्मों का फल

    Tue, 20 Feb 2018 03:43 AM (IST)

    स्थानीय करईया देवरी में आयोजित भागवत कथा के दौरान ललिताम्बा पीठाधीश्वर आचार्य जयराम महाराज ने कथा का वाचन शुरू करते हुए कहा कि भागवत अवरोध मिटाने वाली उत्तम अवसाद है। भागवत का आश्रय करने वाला कोई भी दुःखी नहीं होता है। भगवान शिव ने सुखदेव बनकर सारे संसार को भागवत सुनाई है। कथाकार आचार्य जयराम महाराज ने श्रोताआ

    भगवान राम का नाम, रूप, कथा, लीला और धाम सब मंगलमय हैः राजराजेश्वरानंद

    भगवान राम का नाम, रूप, कथा, लीला और धाम सब मंगलमय हैः राजराजेश्वरानंद

    Mon, 19 Feb 2018 06:52 AM (IST)

    ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि रामचरित मानस भगवान शिव का प्रसाद है, जगत का मंगल प्रयास से नहीं होता प्रसाद से होता है। भगवान श्रीराम मंगलमूर्ति और अमंगलहारी हैं। जैसे भगवान राम हैं वैसे ही उनका नाम है, भगवान का रूप मंगलमय है और उनकी कथा भी मंगलमय है। साथ ही उनका धाम भी मंगलमय है। राम का नाम, रूप, कथा, लीला और धाम सब मंगलमय है। इसलिए राम के जग में

    दूल्हा-दुल्हन बने शिव-पार्वती के भव्य श्रंगार दर्शन, लगाए छप्पनभोग

    दूल्हा-दुल्हन बने शिव-पार्वती के भव्य श्रंगार दर्शन, लगाए छप्पनभोग

    Mon, 19 Feb 2018 04:11 AM (IST)

    बड़वाले महादेव मंदिर में हुआ भंडारा, हजारों श्रद्धालुओं किया प्रसाद ग्रहण भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि महाशिवरात्रि के बाद अब एक के बाद एक विवाह की रस्मों को पूरा किया जा रहा है। बड़वाले महादेव मंदिर में 21 दिवसीय महोत्सव के अंतर्गत रविवार को भगवान शिव व मां पार्वती को दूल्हा-दूल्हन की तरह सजाया गया। इसके साथ ही भगवान को छप्पन भोग भी लगाए गए।

    सुहागलों में शामिल हुईं सैंकड़ों महिलाएं

    सुहागलों में शामिल हुईं सैंकड़ों महिलाएं

    Mon, 19 Feb 2018 04:03 AM (IST)

    सिटी पेज- 15 सागर। महाशिवरात्रि पर भगवान शिव-पार्वती के विवाह के बाद रविवार को श्रीदेव भूतेश्वर मंदिर में माता-पार्वती की सुहागलों में सैंकड़ों महिलाएं शामिल हुईं। आयोजन समिति के सदस्य पं. दीपक मिश्रा ने बताया कि करीब एक हजार महिलाएं सुहागलों में शामिल हुईं, जिनके लिए प्रसादी एवं भोजन की व्यवस्था की गई थी। महिलाओं ने भगवान का पूजन करने के बाद भ

    मिलती जुलती तस्वीरें

    • बच्चों की भूख मिटे तो प्रसन्न होंगे महादेव

    • जानिए माता पार्वती क्यों हो गई थीं शिवजी की बहन से परेशान

    • सालों बाद ऐसा संयोग, सोमवार को शुरू होकर सोमवार को ही खत्म होगा सावन माह

    • यहां एक ही छलनी में हैं दो शिवलिंग, रोचक कहानी जुड़ी है 500 साल पुराने इस मंदिर की

    • शिव जी की ऐसी मूर्तियां फोटो नहीं रखनी चाहिए घर पर, जानिए क्यों

    • भोलेनाथ की पूजा से हटेगा कालसर्प और मांगलिक दोष

    • नलकेश्वर से निकली गंगा की धारा से होता है भगवान शिव का अभिषेक

    • पुलिस ने शुरू की भगवान गणेश, मां लक्ष्मी और भगवान शंकर की जांच

    • कैलाश पर्वत पर दिखे भगवान शिव, तस्वीरें ऐसी कि हर कोई हो जाएगा हैरान!

    • आप भी पहनते हैं रुद्राक्ष तो जरूर ध्यान रखें ये बातें