Naidunia
    Saturday, January 20, 2018
    स्वामी विवेकानंद ने भाइयों और बहनों कह कर जीत ली थी दुनिया

    स्वामी विवेकानंद ने भाइयों और बहनों कह कर जीत ली थी दुनिया

    Mon, 11 Sep 2017 11:49 AM (IST)

    उन्होंने कहा था कि मंदिर में बैठे रहने से भगवान नहीं मिलेगा, लोगों की सेवा करने से पुण्य मिलेगा।

    रास्ते का आनंद लेना इसलिए है जरूरी - स्वामी सुखबोधानंद

    रास्ते का आनंद लेना इसलिए है जरूरी - स्वामी सुखबोधानंद

    Sat, 06 Jan 2018 02:04 PM (IST)

    हमारे मन में कई तरह की इच्छाएं हैं और हमारे सामने कई लक्ष्य हैं। मगर हम जो चाहते हैं अक्सर वह पा नहीं पाते हैं।

    न किताब उपयोगी है न गुरु : ओशो

    न किताब उपयोगी है न गुरु : ओशो

    Sat, 30 Dec 2017 12:54 PM (IST)

    अगर मैं अभी उटकर आपके पास आऊं तो मुझे चलना पड़ेगा, क्योंकि आपके और मेरे बीच में दूरी है, दूरी को पार करना पड़ेगा।

    विचारों पर किसी का कॉपीराइट नहीं! : चैतन्य कीर्ति

    विचारों पर किसी का कॉपीराइट नहीं! : चैतन्य कीर्ति

    Sat, 23 Dec 2017 03:42 PM (IST)

    अक्सर कुछ लोग अच्छे विचार को अपनाने से भी परहेज करते नजर आते हैं।

    यहां है वह स्थान, जहां खोजने पर मिलती है खुशी

    यहां है वह स्थान, जहां खोजने पर मिलती है खुशी

    Wed, 12 Apr 2017 10:29 AM (IST)

    और वह सही स्थान वह है जहां आप स्वयं हैं।

    जानिए अंबाजी मंदिर के बारे में जहां PM मोदी ने की पूजा

    जानिए अंबाजी मंदिर के बारे में जहां PM मोदी ने की पूजा

    Tue, 12 Dec 2017 10:25 AM (IST)

    अंबाजी मंदिर 51 शक्तिपीठों में से एक हैं। कहा जाता है कि यहां देवी सती का हृदय गिरा था।

    खुद को आईने की तरह निर्दोष बनाएं - चैतन्य कीर्ति

    खुद को आईने की तरह निर्दोष बनाएं - चैतन्य कीर्ति

    Sat, 09 Dec 2017 03:41 PM (IST)

    सत्य की खोज के लिए लोग आश्रम और मठों में जाते हैं।

    राशिफल 4 दिसंबर: जानें कैसा रहेगा आज का दिन

    राशिफल 4 दिसंबर: जानें कैसा रहेगा आज का दिन

    Mon, 04 Dec 2017 07:26 AM (IST)

    4 दिसंबर 2017, सोमवार का राशिफल। जानें क्या कह रहे हैं आपके सितारे।

    जीवन में बदलना क्यों है जरूरी - स्वामी सुखबोधानंद

    जीवन में बदलना क्यों है जरूरी - स्वामी सुखबोधानंद

    Sat, 02 Dec 2017 04:08 PM (IST)

    हमारा जीवन लगातार ही बदलावों से गुजरता है।

    क्या आपने कभी अपनी श्वास पर गौर किया?

    क्या आपने कभी अपनी श्वास पर गौर किया?

    Sat, 18 Nov 2017 01:07 PM (IST)

    अगर हमारे भीतर प्रेम है तो हमारी श्वास गति भी आहिस्ता-आहिस्ता होगी और हम अधिक गहरी श्वास लेंगे।

    जरूर पढ़ें