Naidunia
    Saturday, April 21, 2018
    धर्म विज्ञान पर आधारित हो, विश्वास पर नहीं - सद्गुरु जग्गी वासुदेव

    धर्म विज्ञान पर आधारित हो, विश्वास पर नहीं - सद्गुरु जग्गी वासुदेव

    Sat, 14 Apr 2018 02:40 PM (IST)

    अगर आपको विश्व की चिंता है तो सबसे पहले आपको खुद में परिवर्तन लाने के लिए तैयार रहना चाहिए।

    पांडवों के रूप में धरती पर आए थे ये देवता, इसीलिए हुई धर्म की जीत

    पांडवों के रूप में धरती पर आए थे ये देवता, इसीलिए हुई धर्म की जीत

    Thu, 12 Apr 2018 03:16 PM (IST)

    पांडव धरती पर देवताओं के अंश के रूप में अवतरित हुए थे, जिनमें इंद्र से लेकर चंद्रमा तक के अंश विद्यमान थे।

    एक के समक्ष ही समर्पण पर्याप्त है : ओशो

    एक के समक्ष ही समर्पण पर्याप्त है : ओशो

    Sat, 07 Apr 2018 04:36 PM (IST)

    सारे अस्तित्व के प्रति समर्पण तो तुम्हें बिलकुल असंभव है।

    जीवन में अन्याय है, हमें ही समझना होगा - सुखबोधानंद

    जीवन में अन्याय है, हमें ही समझना होगा - सुखबोधानंद

    Sat, 31 Mar 2018 02:51 PM (IST)

    हमें यह समझना होगा कि जिंदगी के रहस्यों को कभी भी पूरी तरह नहीं समझा जा सकता है!

    परमात्मा का नाम क्या है : ओशो

    परमात्मा का नाम क्या है : ओशो

    Sat, 24 Mar 2018 03:18 PM (IST)

    एक कृत्रिम नाम जीवन में सहयोगी हो जाता है, उसकी उपयोगिता है।

    कविता में से मनचाहे अर्थ निकल सकते हैं : ओशो

    कविता में से मनचाहे अर्थ निकल सकते हैं : ओशो

    Sat, 17 Mar 2018 03:30 PM (IST)

    इसलिए मैं कहता हूं काव्यात्मक है। कविता में से मनचाहे अर्थ निकल सकते हैं।

    भावनाओं का निकास कैसे करें : ओशो

    भावनाओं का निकास कैसे करें : ओशो

    Sat, 10 Mar 2018 03:24 PM (IST)

    काम,, क्रोध, लोभ, मोह, अहंकार! शब्दों से ऐसा प्रतीत होता है, जैसे बहुत सी बीमारियां आदमी के आस-पास हैं। सचाई यह नहीं है।

    हनुमान और बाली के बीच हुआ था दंगल, जानिए कौन जीता

    हनुमान और बाली के बीच हुआ था दंगल, जानिए कौन जीता

    Sat, 10 Mar 2018 01:05 PM (IST)

    बाली, हनुमानजी को साधारण वानर समझ रहे थे, लेकिन इस वाकये के बाद उन्हें सच्चाई का पता चल गया।

    प्रेम स्वतंत्रता की कीमत पर नहीं - ओशो

    प्रेम स्वतंत्रता की कीमत पर नहीं - ओशो

    Sat, 03 Mar 2018 03:55 PM (IST)

    यह ऐसी चीज नहीं है जो किसी को दी जा सके। यदि इसे दिया जाता है तो वही समस्याएं आएगी जिसका तुम सामना करते हो।

    स्वार्थ प्यारा शब्द है, लेकिन गलत हाथों में पड़ गया : ओशो

    स्वार्थ प्यारा शब्द है, लेकिन गलत हाथों में पड़ गया : ओशो

    Sat, 17 Feb 2018 02:07 PM (IST)

    परमात्मा भी मिल जाएगा तो भी तुम मांगोगे दंड ही! तुम अपनी शांति तक छोड़ेने को तैयार हो!

    जरूर पढ़ें