मल्टीमीडिया डेस्क। कई बार जाने-अनजाने जीव हत्या हो जाती है। गाड़ी चलाते हुए या पैदल चलते हुए न जाने जीवन में कितने जीवों की हम अनजाने में हत्या कर देते हैं। इसे भी पाप माना गया है और इसका फल हमें भी भोगना पड़ता है।

मगर, गरुड़ पुराण में ऐसे कुछ उपाय बताए गए हैं, जिनको अपनाकर आप इस पाप के अशुभ परिणामों से बच सकते हैं। इसमें सबसे जरूरी है खुद में अपराध बोध महसूस होना। हालांकि, इन उपायों को करने से आप अपनी कुंडली में मौजूद राहु-केतु के दोषों से भी मुक्ति पा सकते हैं। जानते हैं इसके बारे में...

सूखे नारियल में ऊपर छेद कर दें। इस छेद में शक्कर डालकर उसे पूरा भर दें। इसके बाद उस नारियल को किसी सुनसान जगह पर जमीन के नीचे दबा दें। चींटी आदि जीव-जंतु उसे जब खाएंगे, तो आप जीव हत्या के पाप से मुक्त होंगे, साथ ही राहु-केतु के दोष भी कम होंगे।

इसके अलावा शनिवार को किसी गरीब या दिव्यांग व्यक्ति को खाना खिलाएं। इससे जीव हत्या से लगे पाप का अशुभ असर नहीं होगा।

हर महीने की अमावस्या तिथि पर गाय को हरा चारा खिलाएं, कुत्ते को रोटी दें और मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं। इन उपायों से आपके कुंडली के दोष भी कम होंगे।

जानिए क्यों पहली बार 6 दिन को बंद होगा तिरुपति मंदिर, CM ने कही ऐसी बात