प्राचीन काल में ऋषि-मुनियों ने जो परंपराएं बनाईं उन्हें वर्तमान में काफी लोग मानते हैं। कहते हैं कि शनिवार, मंगलवार और गुरुवार के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए।

दरअसल ऐसा माना जाता है कि सप्ताह के ये दिन ऐसे हैं जब ग्रहों से कुछ विशेष प्रकार की किरणें निकलती हैं। ये किरणे हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है।

छिपा है वैज्ञानिक कारण

मनुष्य शरीर का सबसे महत्वपूर्ण भाग मस्तिष्क है। मस्तिष्क सिर में पाया जाता है। सिर का मध्य भाग अति संवेदनशील और बहुत ही कोमल होता है। जिसकी सुरक्षा बालों से होती है यही कारण है कि प्रकृति ने हमारे सिर की सुरक्षा के लिए बालों को दिया है।

इन तीनों दिनों में विशेष प्रकार किरणें इन्हीं बालों के कारण हमारे मस्तिष्क को हानि नहीं पहुंचा पाती। और इन तीनों दिन बाल कटवाने से इन किरणों का सीधा प्रभाव हमारे सिर पर पड़ेगा। फलस्वरूप हमारा मस्तिष्क भी प्रभावित होगा। इसी वजह से इन दिनों में बालों को न कटवाने की बात कही गई है।

मंगल की महिमा

शास्त्रों के अनुसार ऐसा माना जाता है कि मंगलवार को बाल कटवाने से हमारी आयु आठ माह कम हो जाती है। ज्योतिष के अनुसार मंगलवार का दिन मंगल ग्रह का दिन होता है।

शरीर में मंगल का निवास हमारे रक्त में रहता है और रक्त से बालों की उत्पत्ति होती है। इस दिन बाल कटवाने से रक्त विकार होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

गुरु का प्रकोप

गुरुवार धन के कारक बृहस्पति का दिन माना गया है, बृहस्पति संतान और ज्ञान का भी कारक ग्रह है। साथ ही कुछ विद्वान गुरुवार को देवी लक्ष्मी का दिन भी मानते हैं अत: इस दिन बाल कटवाने से धन की कमी, संतान कष्ट व ज्ञान क्षीणता होने की संभावनाएं रहती हैं।

शनि का दुष्प्रभाव

शनिवार शनि ग्रह का दिन है। शनि आयु या मृत्यु देने वाला ग्रह है और शनि का संबंध हमारी त्वचा से भी होता है। अत: शनिवार को बाल कटवाने से दुष्प्रभाव पड़ता है। इस दिन बाल कटवाने से आयु में सात माह की कमी हो जाने की बात कही गई है। शायद इनसे बचने के लिए ही शनिवार, मंगलवार और गुरुवार के दिन बाल न कटवाने की बात कही जाती है।