Naidunia
    Sunday, January 21, 2018
    VIDEO: जब ओशो ने अमेरिकी पत्रकार को अपने बाथरूम के लिए किया इनवाइट

    VIDEO: जब ओशो ने अमेरिकी पत्रकार को अपने बाथरूम के लिए किया इनवाइट

    Fri, 19 Jan 2018 07:31 AM (IST)

    ओशो सभी के सवालों का विस्‍तार से जवाब दिया करते थे। रोज शाम को यह क्रम चलता।

    बड़े से बड़े नुकसान में भी मन को न करें खिन्न, जानें मन को कैसे करें अभ्यस्त

    बड़े से बड़े नुकसान में भी मन को न करें खिन्न, जानें मन को कैसे करें अभ्यस्त

    Wed, 17 Jan 2018 08:19 AM (IST)

    मैंने मन को इसका अभ्यस्त बनाने के लिए उसे गिलास ले जाने दिया कि बड़ी से बड़ी हानि में भी कभी दुखी न हो।

    जब स्वामी विवेकानंद भी अपने आंसुओं को न रोक पाए

    जब स्वामी विवेकानंद भी अपने आंसुओं को न रोक पाए

    Fri, 28 Feb 2014 03:25 PM (IST)

    स्वामी विवेकानंद एक बार एक रेलवे स्टेशन पर बैठे थे उनका अयाचक (ऐसा व्रत जिसमें किसी से मांग कर भोजन नहीं किया जाता) व्रत था।

    जब गुरु ने विवेकानंद से कहा - तू तो क्या तेरी हड्डियों से भी विश्व कल्याण होगा

    जब गुरु ने विवेकानंद से कहा - तू तो क्या तेरी हड्डियों से भी विश्व कल्याण होगा

    Fri, 03 Jul 2015 08:50 AM (IST)

    4 जुलाई 2015 को स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि है। बालक नरेंद्र बचपन से ही मेधावी, स्वतंत्र विचारों के धनी व्यक्ति थे।

    उसकी बात मानते तो वकील होते विवेकानंद

    उसकी बात मानते तो वकील होते विवेकानंद

    Sat, 04 Jul 2015 07:50 AM (IST)

    रिश्तेदार बड़े क्रूर होते हैं। उन्होंने नरेंद्र के पैतृक मकान पर कोर्ट में दावा कर दिया।

    विवेकानंद कहते थे - बंदरों की तरह होती हैं कठिनाइयां

    विवेकानंद कहते थे - बंदरों की तरह होती हैं कठिनाइयां

    Sat, 04 Jul 2015 11:44 AM (IST)

    घटना तब की है जब स्वामी विवेकानंद वृंदावन में थे। सड़क पर चल रहे थे। कुछ लाल मुंह के बंदर उनके पीछे पड़ गए।

    जब मुस्लिम परिवार के मेहमान बने स्वामी विवेकानंद

    जब मुस्लिम परिवार के मेहमान बने स्वामी विवेकानंद

    Sat, 04 Jul 2015 11:10 AM (IST)

    विद्वान ने स्वामीजी से कहा, 'आप एक हिंदू संन्यासी हैं और ये वकील मुसलमान। इनके बच्चे आपके बर्तन, भोजन इत्यादि को छू देते होंगे।

    पिता ने पुत्र को ऐसे सिखाया कि दोस्ती का असली अर्थ क्या होता है

    पिता ने पुत्र को ऐसे सिखाया कि दोस्ती का असली अर्थ क्या होता है

    Tue, 02 Jan 2018 08:36 AM (IST)

    जब दरवाजा खुला, तो पिता के दोस्त के एक हाथ में रुपए की थैली और दूसरे हाथ में तलवार थी।

    भगवान बहुत देता है, लेकिन हम झोली छोटी कर देते हैं

    भगवान बहुत देता है, लेकिन हम झोली छोटी कर देते हैं

    Thu, 02 Nov 2017 09:22 AM (IST)

    कहां दर्जी सिर्फ दो रुपए की मांग कर रहा था और कहां राजा ने उसको दो गांव दे दिए।

    देवउठनी एकादशी पर जानें श्रीहरि विष्णु के सोने-जागने की रोचक कहानी

    देवउठनी एकादशी पर जानें श्रीहरि विष्णु के सोने-जागने की रोचक कहानी

    Tue, 31 Oct 2017 08:04 AM (IST)

    धरतीवासी जगत के पालनहार समेत समस्त देवी शक्तियों को 'उठो देव, बैठो देव, अंगुरिया चटकाओ देव' की मनुहार के साथ जगाते हैं।

    जरूर पढ़ें