नई दिल्ली। मशहूर क्रिकेट कोच और क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के गुरू रमाकांत आचरेकर का बुधवार को निधन हो गया। आचरेकर 87 वर्ष के थे और कुछ वक्त से बीमार थे। क्रिकेट के भगवान कहने वाले सचिन तेंदुलकर खुद को गुरू आचरेकर की मेहनत का ही परिणाम मानते थे।

कुछ वक्त पहले गुरू पूर्णिमा पर कोच आचरेकर से मिलने पहुंचे सचिन तेंदुलकर भावुक भी हो गए थे। अपने दोस्त अतुल साथी अतुल रानाडे के साथ पहुंचे सचिन ने उस वक्त अपनी मुलाकात का ज़िक्र ट्वीट करते हुए किया था। सचिन ने लिखा था कि 'आज गुरु पूर्णिमा है, यह वह दिन है, जिस दिन हम उन्हें याद करते हैं, जिन्होंने हमें अपने आप में बेहतर होना सिखाया। आचरेकर सर, मैं आपके बिना यह सब नहीं कर पाता। अपने गुरुओं का शुक्रिया अदा करना न भूलें और उनका आशीर्वाद लें। अतुल रानाडे और मैंने अभी किया।'

सचिन तेंदुलकर ने अपनी इस मुलाकात की तस्वीरें भी शेयर की थीं। आचरेकर मुंबई के शिवाजी पार्क में युवा क्रिकेटरों को प्रशिक्षित के लिए सबसे अधिक प्रसिद्ध रहे, खासकर सचिन तेंदुलकर को। वह मुंबई क्रिकेट टीम के लिए भी चयनकर्ता रहे। उन्हें 2010 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।