बेंगलुरु। ब्रायन लारा के लिए घूमती हुई या उछाल लेती गेंदें कभी चिंता का विषय नहीं रहीं, लेकिन अपने जमाने के विस्फोटक बल्लेबाज के लिए गोल्फ की छोटी सी गेंद किसी सिरदर्द से कम नहीं थी।

लारा ने मंगलवार को कहा, 'हां, गोल्फ अजीब खेल है। मैं क्रिकेट की घूमती हुई या उछाल लेती गेंदों को खेलने में सक्षम हूं, लेकिन गोल्फ की यह छोटी सी गेंद शुरुआती वर्षों में मेरे लिए किसी सिरदर्द से कम नहीं थी, लेकिन इसने मुझे सिखाया कि गेंद पर नियंत्रण रखने के लिए कैसे अनुशासित होना है।'

लारा ने 1994 में गोल्फ में हाथ आजमाना शुरू किया था और उन्होंने वेस्टइंडीज में खिताब भी जीते हैं। जिन क्रिकेटरों ने गोल्फ में हाथ आजमाए उनके बारे में लारा ने कहा कि भारत के विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव और दक्षिण अफ्रीकी ऑलराउंडर जैक कैलिस का गोल्फ के प्रति प्यार जगजाहिर है, जबकि ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं।

लारा ने कहा, 'हमने जैक्स कैलिस और कपिल देव के बारे में सुना है, लेकिन मैंने रिकी पोंटिंग को सर्वश्रेष्ठ पाया। उनकी पटिंग थोड़ी बेहतर है और इस मामले में वह लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हैं।' उन्होंने अमेरिका के एक टूर्नामेंट में कपिल के साथ गोल्फ खेलने के अनुभव के बारे में भी बताया। लारा ने कहा, 'हम अमेरिका में एक टूर्नामेंट में खेल रहे थे। मेरा सामना अमेरिका के एमेच्योर से था। उसने मुझे हरा दिया। इसके बाद मैं कपिल के पास गया और मैंने कहा कि यह अमेरिकी खिलाड़ी अविश्वसनीय है। कपिल ने मजाक उड़ाया और उसके खिलाफ खेलने के लिए चले गए। उन्होंने वापस लौटकर मुझे बताया कि उन्होंने सिर्फ 15 होल में अमेरिकी खिलाड़ी को हरा दिया है। वह कपिल थे एक मंझे हुए गोल्फर।'